ग्वालियर (ब्यूरो)। लापता किताब व्यवसायी का शव रविवार को तिघरा जलाशय में उतराता मिला है। व्यापारी दो दिन से लापता था। शनिवार को उसकी बाइक, चप्पल और साफी तिघरा के किनारे रखे मिले थे। जिसके बाद से उसकी तलाश तिघरा में की जा रही थी। रविवार सुबह शव के उतराने की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शव को निगरानी में लिया।

प्रारंभिक पड़ताल में मृतक के खुदकुशी करने के लक्षण नजर आ रहे हैं। पर पुलिस को यह भी पता लगा है कि मृतक अपने भाइयों के साथ प्रॉपर्टी बंटवारे के विवाद को लेकर भी तनाव में था। मृतक के दोस्त ने उसके खुदकुशी करने की बात से इनकार किया है। उनका कहना है कि मेरा दोस्त किसी साजिश का शिकार हुआ है।

जनकगंज थानाक्षेत्र स्थित जीवाजीगंज निवासी विनोद कुमार का कॉपी, किताब बाइडिंग कारखाना है। वह अभी अपने पुश्तैनी घर में रहते हैं। घर में पत्नी के अलावा दो बेटे हैं। साथ ही दो भाई राजकुमार और विनय कुमार के परिवार भी इसी मकान में रहते हैं। शुक्रवार दोपहर विनोद कारखाने से घर आया। खाना खाने के बाद वह वापस कारखाना के लिए निकला, लेकिन वहां नहीं पहुंचा। शाम को बेटे का वहां से घर पर फोन आया। तब पता लगा कि वह घर पर भी नहीं है। इसके बाद सोचा कहीं काम से गए होंगे और लौट आएंगे। पर देर रात तक नहीं आए। इसके बाद उनकी तलाश शुरू की। सुबह तक तलाश करने के बाद किसी दोस्त व रिश्तेदार को कुछ पता नहीं चला। शनिवार को परिजन जनकगंज थाना पहुंचे और व्यापारी विनोद के लापता होने की सूचना दी। पुलिस ने अभी गुमशुदगी दर्ज कर सभी थानों को प्वाइंट दिया तो तिघरा से उनकी जानकारी मिली।

बाइक कैथा पार के पास खड़ी मिली

तिघरा थाना पुलिस ने जनकगंज थाना पुलिस को सूचना दी कि जिस बाइक पर विनोद कुमार के घर से निकलने की सूचना दी गई है वह बाइक तिघरा कैथा पार इलाके में खड़ी मिली है। पास ही एक साफी और चप्पल हैं। इसके बाद परिजन तिघरा पहुंचे। बाइक, चप्पल व साफी व्यापारी विनोद कुमार की ही निकली। इसके बाद पुलिस ने गोताखोरों की मदद से जलाशय में व्यापारी को तलाश करने अभियान चलाया, लेकिन शाम तक सफलता नहीं मिली। अंधेरा होने पर पुलिस भी लौट आई।

तैरता मिला शव

रविवार सुबह 10.30 बजे कैथापार के स्थानीय लोगों ने फोन पर पुलिस को एक शव जलाशय में उतराता देखने की सूचना दी। पुलिस मौके पर पहुंची गोताखोर की मदद से शव को बाहर निकलवाया। साथ ही निगरानी में लेकर डेड हाउस पहुंचाया है। प्रारंभिक पड़ताल में बाइक मिलना। चप्पल उतारकर रखने और साफी मिलने से ऐसा प्रतीत होता है कि व्यापारी ने खुदकुशी की है। फिलहाल पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू की है।

प्रॉपर्टी को लेकर था तनाव

बताया गया है कि व्यापारी विनोद कुमार का पुश्तैनी प्रॉपर्टी को लेकर परिवार के अन्य सदस्यों कुछ दिन से विवाद चल रहा था। जिस कारण वह तनाव में थे। शुक्रवार को जब वह घर पहुंचे थे तभी कुछ बहस हुई थी जिसके बाद वह निकल गए थे। हो सकता है इसी तनाव के कारण उन्होंने खुदकुशी जैसा कदम उठाया। पर परिजन इस पर कुछ नहीं कह रहे हैं। मृतक के बेटे दिलीप ने किसी पर भी हत्या का आरोप नहीं लगाया है। मृतक के दोस्त सुरेश ने जरुर इतना कहा है कि विनोद आत्महत्या करने वालों में से नहीं है।