ग्वालियर, (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शहर में अप्रैल से सितंबर के बीच बेहाल करने वाली गर्मी रहती है। इस गर्मी के आगे कूलर की हवा फेल हो जाती है। इससे राहत के लिए 60 फीसद उपभोक्ता एसी का उपयोग करने लगे हैं। इससे शहर में बिजली की खपत बढ़ रही है। नतीजा ट्रिपिंग व फाल्ट हो रहे हैं, लेकिन फीडरों पर खपत के अनुसार बिल जारी नहीं हो रहे हैं। बिजली चोरी कर एसी चलाने वाले उपभोक्ताओं को पकड़ने के लिए एक साथ बिजली कंपनी ने छापेमारी की। चार माह में 2 हजार 555 लोग पकड़े गए। इनके मीटरों में गड़बड़ी पाई गई। मीटर को 80 फीसद तक धीमा किए हुए थे। जो बिजली खपत की, उसका 80 फीसद हिस्सा चोरी कर लिया। 20 फीसद बिल जमा कर रहे थे। बिजली कंपनी ने लाखों रुपये के बिल जारी किए हैं।

बिजली कंपनी ने मीटर में होने वाली गड़बड़ी को रोकने के लिए डिजिटल डिस्प्ले वाले मीटर लगा दिए हैं। मीटर को बाहर कर दिया, लेकिन लोगों ने इन मीटरों से भी चोरी का तरीका निकाल लिया है। डिब्बे को खोलकर मैकेनिक से मीटर को धीमा करा रहे हैं। कम बिल जमा कर एसी की हवा खा रहे हैं। एसी का लोड आने से वितरण ट्रांसफार्मर ओवर लोड हुए हैं और उनका फेल्युअर भी बढ़ा है। इससे दूसरे उपभोक्ताओं को बिजली कटौती के रूप में परेशानी उठाना पड़ी। ट्रांसफार्मर को अंडर लोड लाने के लिए एसी वाले उपभोक्ताओं के घर छापेमारी की जा रही है।

तीन डिवीजन में सख्ती अधिक, उत्तर में कमः

-बिजली कंपनी के सिटी सर्किल में चार डिवीजन हैं। नगर संभाग मध्य, पूर्व व दक्षिण में अभियान तेज है, लेकिन नगर संभाग उत्तर में अभियान नहीं चला है। जबकि इस क्षेत्र में लाइन लास अधिक है।

-डिजीजन के हर जोन में एक इंजीनियर को दल में शामिल किया जा रहा है। बड़ी तादात में स्टाफ जांच के लिए पहुंचता है। थ्री फेज मीटर पर ज्यादा नजर है, क्योंकि सिंगल फेस मीटर एसी का लोड नहीं उठा पाता है।

इन तरीकों से किए थे मीटर धीमेः

-थ्री फेस मीटर को खोलकर सीटी के दो तार काट दिए गए। जिससे मीटर 60 फीसद तक धीमी हो जाती है। एक फेज की खपत दर्ज होती थी।

-मीटर की चिप में इलेक्ट्राेनिक सर्किट लगाकर गति धीमी कर दी।

-मीटर के अंदर रिमोट सर्किट भी मिले हैं। जब मीटर को चालू करना हाेता है तब रिमोट से चालू कर देते थे। यह सर्किट रिमोट से कंट्रोल होता है।

-मीटर के अंदर बिजली सप्लाई के तारों को डायरेक्ट कर मीटर धीमे किए गए थे।

-मीटर टेस्टिंग लैब में यह पकड़े गए।

इतने कनेक्शन में गति धीमी कर चल रहे थे एसी

माह कनेक्शन बिलिंग

अप्रैल 228 70

मई 939 148

जून 828 176

जुलाई 560 92

(नाेटः बिलिंग की राशि लाख में है।)

वर्जन-

चोरी की बिजली से एसी चलाने के लिए मीटर में सर्किट लगाकर गति धीमी की गई थी। अभियान के दौरान जांच किए मीटरों में गडबड़ी मिली है। 80 फीसद तक गति धीमा किए हुए थे। इन पर बिल जारी कर दिए हैं। अगस्त में भी अभियान जारी रहेगा।

नीतिन मांगलिक, महाप्रबंधक सिटी सर्किल

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close