बलबीर सिंह, ग्वालियर नईदुनिया। मानसून के कदम ठहर जाने से गर्मी ने रफ्तार पकड़ ली है। शुक्रवार को आसमान साफ होने से सुबह से सूरज की तल्खी बढ़ गई है। दोपहर में भीषण गर्मी का सामना करना पड़ सकता है। अधिकतम तापमान 41 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच सकता है, जिससे दिन में भीषण गर्मी का सामना करना पड़ेगा और उमस का भी अहसास रहेगा। ग्वालियर प्रदेश में सबसे गर्म रहा है। मौसम विभाग ने अगले दो दिनों तक शहर को गर्मी का सामना करना पड़ेगा। 26 जून से मानसून फिर से सक्रिय होगा। इसके सक्रिय होने पर आगे बढ़ना शुरू करेगा। 30 से 3 जुलाई के बीच मानसून की अच्छी बारिस के आसार हैं।

मौसम विभाग ने शिवपुरी तक मानसून की औपचारिक घोषणा कर दी है। उसके बाद से आगे नहीं बढ़ा है। बंगाल की खाड़ी व अरब सागर से हवा को नमी नहीं मिल रही है। इस कारण बारिश थम गई है। घने बादल भी नहीं छा पा रहे हैं, जिससे सूरज की तपिश थम सके। इस कारण दिन में भीषण गर्मी हो रही है। गत दिवस अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया, जाे सामान्य से 0.4 डिसे अधिक रहा। प्रदेश में ग्वालियर सबसे गर्म रहा है। दिन के साथ-साथ रात में भी गर्मी बढ़ना शुरू हो गई है। रात में उमस का सामना करना पड़ रहा है। हवा का रुख भी उत्तर पूर्व रहा है। दो दिनों से हो रही गर्मी का असर गुरुवार-शुक्रवार की रात पर भी रहा। रात में उमस होने लगी है। सुबह के समय गर्मी का सामना करना पड़ रहा है।

अरब सागर में सिस्टम बनने पर आएगी बारिशः

-हवा का रुख उत्तर पूर्व हो गया है, लेकिन इस हवा के साथ ज्यादा नमी नहीं आ रही है। इस कारण हल्के बादल छाएंगे, लेकिन ये बादल गर्मी से राहत नहीं पहुंचा सकेंगे।

-अधिकतम तापमान 40 से 41 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज हो सकता है। 6 से 8 किमी प्रतिघंटा की गति से हवा चल सकती है।

-25 जून से अरब सागर व बंगाल की खाड़ी में मानसून सक्रिय होगा। हवा का रुख दक्षिण से हो जाएगा, जिससे नमी आना शुरू हो जाएगी। 26 जून से गरज-चमक के साथ बारिश के आसार बनने लगेंगे। जैसे ही सिस्टम आगे बढ़ेंगे, बारिश में तेजी आएगी।

-इस बार भी जून का औसत कोटा पूरा होने की संभावना कम है। क्योंकि अभी तक 16.5 मिमी बारिश हो सकी है।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close