Code of Conduct implemented in Gwalior: ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। पंचायत चुनाव की घोषणा के बाद आचार संहिता लागू होते ही जिले के चारों विकासखंडों के शस्त्र लाइसेंस कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने निलंबित कर दिए। इसके साथ ही इन क्षेत्रों में धारा-144 भी प्रभावी करने के आदेश जारी कर दिए हैं। विकासखंड मुरार,भितरवार, घाटीगांव और डबरा निर्वाचन क्षेत्र की सीमा व उसके सौ मीटर परिधि में रहने वाले सभी निवासियों को दो जून तक संबंधित थानों में शस्त्र लाइसेंस जमा कराने होंगे। वहीं निकाय चुनाव की तैयारियों के चलते शुक्रवार को कलेक्ट्रेट में ईवीएम मशीनों की एफएलसी के बाद माक पोल डलवाए गए। राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों ने ईवीएम मशीनों पर माक पोल वोट डाले और जिज्ञासाएं दूर कीं। पंचायत चुनाव के लिए नामांकन सोमवार से लिए जाएंगे, जो एक जून तक चलेंगे।

बसपा प्रतिनिधि ने कहा-बैलेट पेपर उल्टे लगा दिए तो: कलेक्ट्रेट में माक पोल के दौरान बसपा के प्रतिनिधि ने सवाल किया कि ईवीएम में बैलेट पेपर उल्टा लग गया तो क्या होगा। अधिकारियों ने बताया कि वोटिंग के लिए मशीन तैयार होने से पहले चुनाव एजेंटों के सामने सील लगाई जाती हैं इसलिए यह संभव नहीं है। वहीं भाजपा, कांग्रेस व आप के प्रतिनिधियों ने भी माक पोल में हिस्सा लिया और माक पोल डालें।

विवाह योजना: 31 को होने वाले विवाह नहीं होंगेः मुख्यमंत्री विवाह योजना के तहत ग्वालियर जिले में 31 मई को होने वाला सामूहिक विवाह सम्मेलन अब नहीं होगा। इसमें शासन की ओर से 55 हजार का बजट प्रति जोड़े के लिए निर्धारित है। अब आचार संहिता प्रभावी होने के बाद यह आयोजन नहीं होंगे। इसके साथ ही कोई नया काम नहीं होगा। जिनके वर्क आर्डर जारी हो चुके है, वे जारी रहेंगे। शुक्रवार की वीसी में एक जिले के कलेक्टर ने इसको लेकर मार्गदर्शन भी मांगा था, जिसके बाद आयोग ने स्थिति स्पष्ट की।

एसडीएम तोमर भेजे मुख्यालय, कुर्रेशी को चार्जः एसडीएम ग्वालियर सिटी प्रदीप तोमर को तीन वर्ष पूरे होने के कारण गाइडलाइन के तहत मुख्यालय भेज दिया गया है। वहीं उनके स्थान पर डिप्टी कलेक्टर यूनुस कुर्रेशी को ग्वालियर सिटी का चार्ज सौंपा गया है।

निकाय चुनाव: दो जून को लागू हो सकती है आचार संहिताः निकाय चुनाव की घोषणा दो जून को हो सकती है क्योंकि पंचायत चुनाव के नामांकन की प्रक्रिया तब तक पूरी हो जाएगी। इसके बाद निकाय चुनाव की तैयारियों चलती रहेंगी। पंचायत चुनाव की प्रक्रिया के साथ साथ निकाय चुनाव की तैयारियां होंगी।

निकाय चुनाव: एक कंट्रोल यूनिट के लिए तीन बीयू रिजर्वः इस बार निकाय चुनाव में महापौर के लिए भी वोट जनता ही डालेगी। इस कारण एक कंट्रोल यूनिट के साथ दो बैलेट यूनिट लगाई जाएंगी। एक बीयू पर पार्षद के लिए और दूसरी बीयू पर महापौर का वोट डलेगा। तीसरी बीयू इसलिए हर केंद्र के लिए रिजर्व रखा जाएगा कि कहीं मशीन में कोई दिक्कत हो जाए तो एक-एक बीयू रिजर्व रहेगी। निकाय चुनाव के लिए 2012 कंट्रोल यूनिट व 5609 बैलेट यूनिट तैयार की गई हैं। अगर 15 प्रत्याशी से ज्यादा प्रत्याशी बढ़े तो एक और बैलेट यूनिट अतिरिक्त लगानी होगी।

नामांकन अब आफलाइन: उप जिला निर्वाचन अधिकारी विनोद भार्गव ने बताया अभी तक जनपद सदस्य व जिला पंचायत सदस्य के लिए वोट ईवीएम से डलते थे। इस बार पंचायत चुनाव पूरी तरह मतपत्र पर होगा। इन दोनों पदों के लिए नामांकन आफलाइन लिए जाएंगे। आइइएमएस साफ्टवेयर में अपलोड किए जाएंगे। वहीं पंचायत चुनाव की मतगणना तकरीबन दो घंटे में पूरी कर ली जाएगी।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close