ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। अब ट्रेनों में यात्रियों की भीड़ बढ़ गई है, लेकिन इस भीड़ से ट्रेनों में गंदगी भी लगातार बढ़ रही है। ग्वालियर से रवाना होने वाली ट्रेनों में ही नहीं बल्कि यहां से निकलने वाली ट्रेनों में भी यही हाल है। जिनमें गंदगी की भरमार है। इसके चलते पिछले 10 दिनों में झांसी मंडल को 48 शिकायते प्राप्त हुई है। मंडल के अधिकारियों का दावा है कि सभी शिकायतों का शत-प्रतिशत निराकरण किया गया है। यह शिकायतें एप व 139 पर अाई थी।

रेलवे ने यात्रा के दौरान किसी भी प्रकार की असुविधा होने पर यात्री इंटरनेट मीडिया के अधिकृत अकाउंट के माध्यम से तथा रेल मदद एप और 139 पर शिकायत / सुझाव दे सकते हैं। झांससी मंडल द्वारा इंटरनेट मीडिया एकाउंट्स तथा रेल मदद पर 24 घंटे निगरानी रखी जा रही है। यात्रियों द्वारा प्रेषित 8 शिकायतों में से फीडबैक में 4 को सर्वोत्कृष्ट तथा 4 संतोषजनक रहे। इसी क्रम में कोचों में पानी की उपलब्धता से सम्बंधित 111 शिकायतें प्राप्त हुई। जिनका निराकरण किया गया। यात्रियों द्वारा प्रेषित 18 फीडबैक में 10 को सर्वोत्कृष्ट तथा 8 संतोषजनक रहे। शिकायतों का शतप्रतिशत निराकरण किया गया।

ग्वालियर से चलने वाली ट्रेनों में निगरानी नहीं

अन्य मंडलों के रेलवे अधिकारी इन दिनों ट्रेनों में निरीक्षण कर रहे है। लेकिन ग्वालियर से चलने वाली ट्रेनों में स्थानीय अधिकारियों ने अभी तक कोई निरीक्षण नहीं किया। एक ओर रेलवे दावा कर रहा है कि ऑन बोर्ड हाउस कीपिंग सर्विसेज तथा क्लीन ट्रेन सर्विस के माध्यम से सफाई कराई जाती है। यह बात सही भी है, लेकिन ट्रेन में मौजूद कर्मचारी यात्रियों के सामने सफाई कर उनसे फीडबैक फार्म भरवा लेते है, उसके बाद अन्य कोचों की सफाई नहीं करते है। जिसके चलते शिकायते बढ़ जाती है। ग्वालियर से चलने वाली ट्रेनों में स्टेशन पर ही सफाई की जाती है, जिससे ट्रेन साफ सुथरी रहती है।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close