बलबीर सिंह, ग्वालियर नईदुनिया। जीवाजी विश्वविद्यालय में सीएम हेल्प लाइन की शिकायतों की संख्या कम नहीं हो रही है। लगातार यह शिकायतें बढ़ती ही जा रही है। परीक्षा, रिजल्ट, मार्कशीट व अन्य शिकायतों, समस्याओं का समाधान समय सीमा में नहीं होने पर छात्र-छात्राएं सीएम हेल्पलाइन पर की शिकायतें दर्ज करा रहा हैं। यह आंकड़ा 700 के पार पहुंच चुका है। अधिकारी और कर्मचारी शिकायतों का निराकरण करने में रुचि नहीं दिखा रहे हैं, इसलिए लगातार शिकायतें बढ़ती जा रही हैं। हर स्तर पर शिकायत लंबित है। सीएम समाधान में भी जेयू की शिकायत पहुंच सकती है।

कुलपति स्तर पर 91 शिकायतें हो गई हैं। शिकायतों के बढ़ने पर उच्च शिक्षा विभाग सीएम समाधान में शिकायतों को शामिल कर सकता है। ऐसा कुछ समय पहले ही हुआ है, तब सहायक कुलसचिव से लेकर कुलपति तक सारे अधिकारी परेशान हो गए थे। पंचायत चुनाव में जीवाजी यूूनिवर्सिटी के 391 लोगों की ड्यूटी लगी है। जिला प्रशासन ने पंचायत चुनाव के लिए जेयू के 391 लोगों की ड्यूटी लगा दी हैं, इनमें अधिकारी, शिक्षक, कर्मचारी शामिल हैं। कुलसचिव डा. सुशील मंडेरिया ने प्रशासन से विवि का काम प्रभावित होने का हवाला देते हुए इतने लोगों की ड्यूटी नहीं लगाने की मांग की थी, लेकिन प्रशासन ने एक नहीं सुनी है। 391 लोगों की ड्यूटी चुनाव में लगने के कारण अध्ययनशालाओं में पढ़ाई के साथ-साथ प्रशासनिक भवन में काम लगभग ठप होना तय है। ऐसा होने से सीएम हेल्पलाइन पर शिकायतों में इजाफा होना तय है। पंचायत चुनाव के बाद नगर निगम चुनाव में लोगों की ड्यूटी लगेगी। यही वजह है कि शिकायतों की संख्या बढ़ रही है। अधिकारी गंभीरता नहीं दिखा रहे हैं। विद्यार्थी परेशान होकर सीएम हेल्पलाइन में शिकायत दर्ज कर रहे हैं। गाैरतलब है कि सीएम हेल्प लाइन की शिकायतें हमेशा से ही जेयू की परेशानी रही है। पहले भी इसके लिए कलेक्टर जेयू प्रबंधन से नाराजगी जता चुके हैं।

किस स्तर पर कितनी शिकायत स्तर शिकायत

एल-1 413

एल-2 140

एल-3 187

एल-4 094

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close