ग्वालियर। कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव और पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने एक बार फिर अपनी सरकार पर निशाना साधा है। सोमवार को ग्वालियर में नई फूड लैबोरेटरी के भूमिपूजन के अवसर पर सिंधिया ने मिलावटखोरों के खिलाफ चल रही कार्रवाइयों पर सवालिया निशान लगा दिया। सिंधिया बोले- मैं सुन रहा हूं कि मिलावटखोरों को छापा पड़ने के बाद भी छोड़ा जा रहा है। उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट से मुखातिब होते हुए कहा- अब आप ऑर्डर निकालें कि आपकी स्वीकृति के बिना कोई केस क्लोज नहीं होगा।

लोकसभा चुनाव में हार का सामना करने के बाद अंचल में सक्रिय हुए पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने आज आरटीओ पहाड़ी के पास नई प्रस्तावित फूड लैबोरेटरी का भूमिपूजन किया। इस मौके पर उन्होंने अपनी सरकार पर एक बार फिर निशाना साधा। सिंधिया बोले- मैं कलेक्टर और मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर से कहना चाहता हूं कि किसी भी मिलावटखोर को बख्शा न जाए। मैं सुन रहा हूं कि छापा पड़ने के बाद भी मिलावटखोरों को छोड़ा जा रहा है। स्वास्थ्य मंत्रीजी आप ऑर्डर निकालो, आपके पूछे बिना कोई केस क्लोज नहीं होगा।

सिंधिया बोले- इनका नारा है जब तक है सिलावट प्रदेश में नहीं होगी मिलावट। शुद्व के लिए युद्व होना ही चाहिए। स्वास्थ्य मंत्रीजी आप किसी को राहत मत दे देना। मैं साफ कहना चाहूंगा कि जहां भी मिलावट हो वहां कार्रवाई नहीं सीधे जेल भेजो। 18 साल पहले मार्क हॉस्पिटल के जमीन पर मल्टीस्पेशलिटी अस्पताल मेरे पिता का सपना था, सभी मंत्री यहां उसका प्रस्ताव तैयार करें,देश के सारे निजी अस्पताल गु्रप से बात कर यहां बेहतर अस्पताल तैयार कराएंगे।

स्वास्थ्य मंत्री बोले- आप ही करेंगे लोकार्पण

कार्यक्रम के मंच ने स्वास्थ्य मंत्री तुलसीराम सिलावट ने कहा- 365 दिन बाद इस लैबोरेटरी का आपको (सिंधिया) को ही उदघाटन करना है। मैंने विभाग को निर्देशित कर दिया है कि कोई समझौता नहीं होगा। ये कैलाशवासी माधवराव सिंधिया की नगरी है। मुझे एक जनवरी 2019 को स्वास्थ्य विभाग की बागडोर सौंपने वाले सिंधिया ही हैं। अगर कोई लक्ष्य पूरा कर सकता है तो वे पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया हैं। तीनों नई प्रयोगशालाएं उनकी देन हैं। सिंथेटिक दूध,मावा,पनीर से बीमारियों का पता चला तो मैंने सिंधियाजी से बात की, सीएम से बात की। यहां ग्वालियर में सिंधियाजी का आशीष है। मैं कलेक्टर अनुराग चौधरी को बधाई देता हूं। पूरे मप्र में 41 रासुका लगाई गई हैं और सात हजार सैंपल लिए गए हैं। जो मिलावट करेगा जेल में होगा।

लैबोरेटरी:18 करोड़ में पूरी तैयार होगी लैब

सोमवार को खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग की ग्वालियर में आरटीओ ऑफिस पहाड़ी के पास प्रस्तावित संभागीय फूड लैबोरेटरी का भूमिपूजन किया गया। 5 करोड़ से ढ़ांचा तैयार होगा और शेष 12 करोड़ के अत्याधुनिक संयंत्र स्थापित किए जाएंगे। लैब एक साल में तैयार कर ली जाएगी। एक एकड़ भूमि में यह लैब बनेगी। भोपाल में लैब पहले से ही है और अब ग्वालियर,जबलपुर और इंदौर में भी होगी।

14 दिन में सैंपल रिपोर्ट आने का प्रावधान है लेकिन प्रदेश में अभी एक ही लैब होने से तीन-तीन महीने तक रिपोर्ट नहीं आ रही है। भूमिपूजन समारोह में मुख्य अतिथि पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया थे। अध्यक्षता प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री तुलसीराम सिलावट ने की। विशेष तौर पर मंत्री इमरती देवी,मंत्री प्रघुम्न सिंह,विधायक मुन्नालाल गोयल,प्रवीण पाठक,कांग्रेस जिलाध्यक्ष देवेंद्र शर्मा,नेता प्रतिपक्ष निगम कृष्णराव दीक्षित ,कलेक्टर अनुराग चौधरी उपस्थित थे।

चोरी की बिजली से भूमिपूजन कार्यक्रम

भूमिपूजन कार्यक्रम समारोह में उपयोग की गई बिजली चोरी की थी। यहां से तार सीधे आरटीओ पहाड़ी के पीछे लगे ट्रांसफार्मर में लगा दिए गए थे। इस संबंध में कार्यक्रम के बाद जब नईदुनिया ने व्यवस्था करने वाले खाद्य एवं औषधि के अधिकारी से पूछा भी तो उनका कहना था कि सिंधिया का कार्यक्रम है,इस मामले को मत छेड़िए।

बदहाल रोड,धूल से सब बेहाल

भूमिपूजन स्थल तक पहुंचने के लिए कच्चे जर्जर मार्ग से माननीयों व अधिकारियों का काफिला गुजरा। इतनी धूल कि वहां कोहरा सा छा गया। निगम ने मुरम डलवाई थी लेकिन उससे खास फर्क गडढों पर नहीं पड़ा।

Posted By: Hemant Upadhyay