ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। शहर में पिछले दो दिनों में गर्मी बढ़ने से बिजली की खपत 67 लाख यूनिट पर पहुंच गई है। इस खपत के बढ़ने से शहर में लगे पावर व वितरण ट्रांसफार्मरों को बुखार आने लगा है। इसकी वजह से दो से तीन घंटे के भीतर बिजली झटका देने लगी है। 15 से 30 मिनिट की कटौती लोगों झेलना पड़ रही है। दिन में तीन से चार बार बिजली गुल हाे रही है। यह समस्या पिछले दो दिनों में अधिक बढ़ गई है। इसके अलावा ट्रांसफार्मर फेल होने की संख्या भी बढ़ गई है। इसके कारण लोगों को रतजगा करना पड़ रहा है। गर्मी के कारण शहर में बिजली की जो स्थिति बन गई है, उसको देखते हुए अधिकारी बारिश का इंतजार करने लगे हैं, ताकि तापमान नीचे आए। इससे ही बिजली का लाेड कम हाेने की संभावना है।

शहर में वर्ष 2011 में लाइनों का सुधार किया गया था। जब यह कार्य किए गए थे, तब शहर में उपभोक्ताओं की संख्या 2 लाख 19 हजार थी। तब से अब तक 50 हजार उपभोक्ता बढ़ गए। लोगों के घरों में एसी लग गए हैं, जिससे लोड बढ़ गया है। हर साल लोड में बढ़ोतरी हो रही है। जबकि नेटवर्क पुराना है। गर्मियों में यह ओवर लोड हो जाता है। ओवर लोड के कारण जंपर, फाल्ट, तार टूटना, ट्रांसफार्मर खराब होना, गर्म होने की घटनाएं बढ़ी हैं। जिससे शहर काे अघोषित बिजली कटौती का सामना करना पड़ रहा है। भीषण गर्मी में लोग परेशान हैं। पिछले दो दिन में सबसे ज्यादा परेशानी बढ़ी है।

पुराने हुए उपकरण, इसलिए भी ज्यादा परेशानीः बिजली कंपनी के पावर व वितरण ट्रांसफार्मर काफी पुराने हो चुके हैं। पुराने ट्रांसफार्मरों पर लगातार लोड बढ़ रहा है, जिसकी वजह से परेशानी अधिक बढ़ गई है। सुधार कार्य के दौरान वितरण ट्रांसफार्मरों का तेल की जांच नहीं की जाती है। क्योंकि ये चल-चलकर तेल कम हो जाता है। इसलिए ट्रांसफार्मर फेल भी हाे जाते हैं। तेल कम होने पर यह खराब हो जाते हैं। लोड की भी जांच नहीं की जाती है। जब यह बार-बार फेल होता है तब इनकी जांच की जाती है।

डीओ बांधने नहीं मिला रहा परमिट, इसलिए शिकायत निराकरण में समय लग रहाः

-वितरण ट्रांसफार्मर डीओ बांधने के लिए परमिट नहीं मिल रहा है। बांस या डीओ राड से फ्यूज बांधना पड़ रहा है। इसे बांधने में काफी समय लग रहा है। इससे फ्यूज आफ काल्स की समस्या के निराकरण में समय लग रहा है। परमिट से जो काम तीन से चार मिनिट में हो सकता है, वह एक से डेढ़ घंटे में हो रहा है। जिससे दूसरी शिकायत के निराकरण में दो से तीन घंटे देर से पहुंच रहे हैं। इस कारण लोगों को लंबी कटौती का सामना करना पड़ रहा है।

-ओवर लोड होने की वजह से डीओ, फ्यूज जाना आम समस्या हो गई है। फ्यूज आफ काल्स की टीम का इन्हीं समस्याओं के निराकरण में समय जा रहा है।

-जब फ्यूज आफ काल्स की सेवा शुरू की गई थी, तब रिस्पांस टाइम आधा घंटा हाे गया था, लेकिन अब यह बढ़कर दो से तीन घंटा हो गया है।

क्या होता है ट्रांसफार्मर का बुखारः

-ट्रांसफार्मर का सामान्य तापमान 80 से 90 डिग्री सेल्सियस के बीच रहता है। यह तापमान ट्रांसफार्मर के अंदर व बाहर होने वाली गर्मी से निर्धारित होता है। जैसे ही 90 डिग्री सेल्सियस से ऊपर तापमान जाता है तो उसे बुखार आने लगता है। जब ट्रांसफार्मर का तापमान बढ़ता है तो कंपनी के अधिकारी उसे बुखार कहते हैं। तापमान बढ़ने पर यह बिजली आपूर्ति को प्रभावित करने लगता है। पावर ट्रांसफार्मर की वीसीवी ट्रिप हो जाती है।

-ट्रांसफार्मर का अंदर व बाहर का तापमान मिलाकर 85 डिग्री सेल्सियस रहता है।

पांच तरीकों से दर्ज करा सकते हैं शिकायत

-ग्वालियर शहर के लिए नंबर -6232914446

-भोपाल स्थित फ्यूज आफ काल्स नंबर-0755-2551222

-वाट्सएप चैट बोट नंबर-0755-2551222

-काल सेंटर-1912

-उपाय एप पर भी दर्ज करा सकते हैं शिकायत

शहर में उपभोक्ताओं की स्थिति

उपभोक्ता- 2.73 लाख

-शहर में 24 घंटे में औसत खपत-67 लाख यूनिट

- पावर ट्रांसफार्मर -56

- वितरण ट्रांसफार्मर-6127

- 33 केवी फीडर 34, लंबाई 264 किमी

- 11 केवी फीडर 221, लंबाई 623 किमी

- जोन-19

वर्जन-

शहर में बिजली की खपत 67 लाख यूनिट तक पहुंच गई है। लाइनों पर लोड आने की वजह से दिक्कत बढ़ी हैं। यह गर्मी के कारण हुआ है। तापमान में गिरावट आने पर स्थिति सामान्य हो जाएगी।

नितिन मांगलिक, महाप्रबंधक सिटी सर्कल

वर्जन-

दिन में तीन से चार बार बिजली जा रही है। रात में भी कभी बिजली चली जाती है। पिछले दो दिनों से यह समस्या बढ़ी है। इस कारण रात में सो नहीं पा रहे हैं। जिन लोगों के पास इंवर्टर नहीं है, वह ज्यादा परेशान हैं।

सर केपी सिंह, निवासी गोविंदपुरी

वर्जन-

बिजली जाने का कोई समय नहीं है, दिन या रात में कभी भी गुल हो जाती है। हमारे यहां चार से पांच बार बिजली आपूर्ति बंद रही है। इस भीषण गर्मी में बिजली बंद होने पर परेशान हो रहे हैं। काल सेंटर पर शिकायत करते हैं तो यह आसानी से दर्ज नहीं होती है।

देवेश शर्मा, निवासी महाराणा प्रतापनगर

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local