Coronavirus Gwalior News ग्वालियर। नईदुनिया प्रतिनिधि। ग्वालियर-चंबल अंचल में 13 सीटों पर उपचुनाव होना है। राजनीतिक गतिविधियां तेज हो चुकी हैं। जैसे-जैसे चुनावी पारा बढ़ता जा रहा है, कोरोना का ग्राफ गिरता जा रहा है। पिछले एक हफ्ते में अंचल के चार प्रमुख जिले मुरैना, भिंड, शिवपुरी और दतिया में तो रोजाना दो, चार और पांच केस ही निकल रहे हैं।

इसी प्रकार ग्वालियर में किसी समय ढाई सौ से अधिक मरीज रोज निकल रहे थे, लेकिन अब आंकड़ा दहाई के अंक तक सिमट गया है। हालांकि अब सैंपलिंग भी एक तिहाई ही बची है। प्रशासन भले ही यह दलील दे रहा है कि लोग नहीं आ रहे हैं इसलिए कोरोना जांच टारगेट तक नहीं पहुंच पा रही है, लेकिन चुनाव व्यस्तता के चलते एमएमयू यूनिट भी सैंपलिंग नहीं कर रही है। साथ ही कॉटैक्ट ट्रेसिंग भी अब बंद हो चुकी है।

सैंपलिंग में टारगेट से पिछड़े: सैंपलिंग के लिए दो नोडल अधिकारी, एमएमयू टीम,टैक्नीशियन ,साधन व संसाधन सब मौजूद हैं, इसके बाद भी सैंपलिंग में ग्वालियर अंचल सबसे पीछे है। स्वास्थ्य महकमे ने सभी जिलों के लिए सैंपलिंग का टारगेट निधारित किया था। ग्वालियर में प्रतिनिधि 2000 सैंपल होना थे, लेकिन जिला टारगेट से कोसो दूर है।

ग्वालियर सहित अंचल के अांकड़े

ग्वालियर

दिनांक सैंपल संक्रमित

19अक्टूबर 756 55

20अक्टूबर 869 48

21अक्टूबर 1331 30

22अक्टूबर 1318 37

23अक्टूबर 1860 53

24अक्टूबर 1978 34

25अक्टूबर 990 23

26अक्टूबर 723 15

शिवपुरी

दिनांक सैंपल पॉजिटिव

19 अक्टूबर 275 9

20 अक्टूबर 419 12

21 अक्टूबर 395 4

22 अक्टूबर 330 4

23 अक्टूबर 335 8

24 अक्टूबर 434 5

25 अक्टूबर 343 10

26 अक्टूबर 351 3

- 22 सैंपल रिजेक्ट हुए और 18 प्रतीक्षारत हैं।

भिंड

दिनांक सैंपल पॉजिटिव

19 अक्टूबर 499 1

20 अक्टूबर 559 2

21 अक्टूबर 642 5

22अक्टूबर 378 0

23 अक्टूबर 398 3

24 अक्टूबर 468 3

25 अक्टूबर 293 6

26 अक्टूबर 339 4

दतिया

दिनांक सैंपल पॉजिटिव

20 अक्टूबर 137 9

21 अक्टूबर 236 10

22 अक्टूबर 317 3

23 अक्टूबर 219 5

24 अक्टूबर 300 4

25 अक्टूबर 110 01

26 अक्टूबर 191 01

नोट: प्रतीक्षारत रिपोर्ट 147 है।

मुरैना

दिनांक सैंपल पॉजिटिव

19 अक्टूबर 331 4

20 अक्टूबर 251 4

21 अक्टूबर 356 9

22 अक्टूबर 367 6

23 अक्टूबर 352 4

24 अक्टूबर 271 2

25 अक्टूबर 215 3

26अक्टूबर 234 2

4000 सैंपल जांच की क्षमता

जीआरएमसी की वायरोलॉजी लैब में 5 आरटीपीसीआर मशीन हैं। इनकी प्रतिदिन 4000 जांच की क्षमता है। सैंपलिंग कम होने से मशीनों का पूरा उपयोग नहीं हो रहा है। इसके लिए प्रशासन व सैंपलिंग टीम के नोडल जिम्मेदार हैं।

सैंपलिंग के लिए भर्ती,लैब में रख दिया

एनआरएचएम के निर्देश पर 18 टैक्नीशियनों की कोविड सैंपल के लिए हाल ही में भर्ती की गई। जिनमें 13 टैक्नीशियन जिला अस्पताल को सैंपलिंग के लिए दिए, लेकिन इनमें से 7 टेक्नीशियन को लैब्ा में सामान्य जांच के लिए लगा रखा है।

इनका कहना है

जिनकी भर्ती कोविड के लिए हुई, उनसे सैंपलिंग का काम लिया जाएगा। यदि किसी को लैब में रखा है तो वहां से हटाया जाएगा और अुनभव वाले टैक्नीशियन को लैब में भेजा जाएगा। सैंपलिंग बढ़ाने के निर्देश दिए हैं।

डा मनीष शर्मा, सीएमएचओ

Posted By: vikash.pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस