Coronavirus Gwalior News: ग्वालियर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना जिस तरह से शहर में अपने पैर पसार रहा है और लोगों को अपनी चपेट में लेकर उनकी जिंदगी निगल रहा है। उससे सितंबर के शुरुआत में ही मौत का आंकड़ा अगस्त के मुकाबले तीन गुना और संक्रमण ढाई गुना बढ़ गई है।

शुरुआत के महीनों के मुकाबले सितंबर में कोरोना वायरस आक्रामक हुआ है। कोरोना वायरस मरीजों के लंग्स को प्रभावित कर रहा है। जिससे मरीज सीधे ऑक्सीजन फिर वेंटिलेटर पर पहुंच जाता है। एक्सपर्ट का कहना है कि इस समय लोगों को अधिक सतर्क रहने की जरूरत है, क्योंकि शुरुआत के महीनों में जो कोरोना के दायरे में आए, उन्हें मामूली लक्षण दिखाई दिए।

अब जिन लोगों में संक्रमण मिल रहा है, उसमें 40 प्रतिशत लोगों के लंग्स में संक्रमण मिला है इसलिए महामारी के लक्षण आते ही चिकित्सीय सलाह जरूर लें। 1 से 15 अगस्त तक 1181 संक्रमित और 10 लोगों की मौत हुई थी, लेकिन सितंबर में यह आंकड़ा 15 दिन में ढाई हजार से अधिक संक्रमित और 37 लोगों की मौत तक पहुंच गया है। अंचलभर से आकर सुपर स्पेशियलिटी में कोरोना का इलाज ले रहे लोगों में से अब तक 177 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। जिसमें 120 लोगों की मौत सितंबर के 15 दिन में हुई है।

किस तरह बढ़ रहा संक्रमण

महीना संक्रमित मौत महीना संक्रमित मौत

1अगस्त 124 00 1सितंबर 108 4

2अगस्त 93 00 2सितंबर 248 2

3अगस्त 83 00 3सितंबर 208 3

4अगस्त 57 00 4सितंबर 153 5

5अगस्त 89 01 5सितंबर 136 3

6अगस्त 26 01 6सितंबर 188 2

7अगस्त 38 00 7 सितंबर 174 1

8अगस्त 138 00 8 सितंबर 207 1

9अगस्त 91 02 9 सितंबर 184 1

10अगस्त 89 01 10 सितंबर 191 5

11अगस्त 61 02 11 सितंबर 208 2

12अगस्त 76 01 12 सितंबर 163 2

13अगस्त 55 01 13 सितंबर 189 3

14अगस्त 94 01 14 सितंबर 204 3

15अगस्त 67 00 15 सितंबर 00 00

----------------------------------------------------------------------

कुल 1181 10 2561 37

पॉजिटिविटी दर-

अगस्त के 15 दिन में 13812 लोगों की जांच में 1181 लोग संक्रमित पाए गए। जिसमें 10 लोगों की मौत हुई। अगस्त में पॉजिटिविटी दर 8.5 रही।

सितंबर के 14 दिन में 14790 लोगों की जांच में 2561 संक्रमित पाए गए, जिसमें 37 लोगों की मौत हुई। सितंबर में पॉजिटिविटी दर 17.3 रही।

(नोटः प्रशासन से जारी मेडिकल बुलेटिन के अनुसार)

इनका कहना है

बाजार खुल गए हैं, लोगों का आवागमन भी बढ़ गया है। जिससे लोग एक दूसरे के संपर्क में आए, इससे कोरोना तेजी से फैला। यही कारण है कि पिछले महीनों की अपेक्षा सितंबर में कोरोना के आंकड़े तेजी से बढ़े हैं। लोगों को चाहिए कि वह इस समय अधिक सतर्कता रखें, क्योंकि शुरुआत में लोग लक्षण पर ध्यान नहीं देते और घर पर ही इलाज लेने का प्रयास करते हैं। वह ऐसा न करें, लक्षण आते ही चिकित्सीय परामर्श लें। सावधानी रखें, मास्क का प्रयोग करें, शारीरिक दूरी रखें, भीड़ में जाने से बचें, हाथ बार-बार साबुन से साफ करें।

डॉ अशोक मिश्रा, पीएसएम विभागाध्यक्ष, जीआर मेडिकल कॉलेज

कोरोना का संक्रमण पहले से अब घातक हो रहा है। यह तेजी से लंग्स को संक्रमित कर रहा है। इसलिए यदि किसी को कोरोना के लक्षण आते हैं तो वह डॉक्टर से परामर्श ले, कोरोना की जांच करवाए और समय पर इलाज ले। जिससे समय रहते इलाज मिल सके।

डॉ. वीके बाथम,रेस्पिरेटरी मेडिसिन विशेषज्ञ स्वास्थ्य विभाग

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020