Coronavirus in Gwalior ग्वालियर। जिले में कोरोना पॉजिटिव सामने आने के बाद से हड़कंप है। ग्वालियर को इसी कारण लॉकडाउन किया गया, लेकिन लॉकडाउन के आदेश के बाद भी लोग मानने को तैयार नहीं हैं और सड़कों पर अकारण निकलते दिखे। इसी कारण लॉकडाउन को 25 मार्च रात 12 बजे तक कर्फ्यू में बदल दिया गया। मंगलवार को हांलांकि पुलिस ने सख्ती दिखाई और सड़क पर दिखने वालों को घरों के लिए खदेड़ा। पीएम ने मंगलवार शाम पूरे देश को 21 दिन के लिए लॉकडाउन घोषित किया है। इससे पहले कलेक्टर सोमवार को ही ग्वालियर को 31 मार्च तक लॉकडाउन घोषित कर चुके थे। बुधवार सुबह राशन, सब्जी, दूध, फल जैसी जरूरी कोई भी सेवा चालू नहीं रही।

सिर्फ मेडिकल, हॉस्पिटल और चुनिंदा पंपों को अनुमति दी गई है। जो भी लॉकडाउन को ब्रेक करते पकड़ा जाएगा उस पर धारा-188 का तत्काल केस दर्ज होगा। इसके बाद जमानत नहीं दी जाएगी। साथ ही 21 दिन के लॉकडाउन के दौरान जिले में अत्यावश्यक सेवाएं और खानपान की चीजें कब और किस समय ली जा सकतीं हैं, इसको लेकर पूरी गाइडलाइन बुधवार शाम को कलेक्टर द्वारा जारी की जाएगी। नईदुनिया के इस विशेष कवरेज के जरिए जानें आपको अब क्या करना है और क्या नहीं। नियम तोड़े तो सख्त कार्रवाई भी होगी...

कर्फ्यू के यह मुख्य बिंदु

- जिले में किसी भी व्यक्ति का घर से निकलना निषेधित रहेगा, यानि सभी लोग अपने अपने घर में ही रहेंगे।

- जिले की सभी सीमाओं को सील करते हुए किसी भी माध्यम सड़क, रेल एवं हवाई मार्ग से जिले की सीमा में बाहरी लोगों का आगमन नहीं होगा।

- जिले के हर निवासी का जिले की सीमा से बाहर जाना और आना पूरी तरह प्रतिबंधित रहेगा।

- सभी शासकीय, अर्द्धशासकीय, अशासकीय कार्यालय जिनमें केंद्रीय संस्थानों को भी शामिल किया जाता है।

- सभी लोक परिवहन सेवाएं, निजी बसें, टैक्सी, ऑटो-रिक्शा, ई-रिक्शा, ट्रेन बस सभी का संचालन बंद रहेगा।

- कोई भी धार्मिक स्थल नहीं खुलेगा और न ही किसी का प्रवेश रहेगा।

31 तक पासपोर्ट सेवा बंद, डाकघर खुला, आधार में संशोधन

पासपोर्ट सेवा भी 31 मार्च तक के लिए बंद कर दी गई है। बाड़ा स्थित डाकघर प्रभारी बृजेश शर्मा का कहना है पासपोर्ट सेवा बंद की गई, लेकिन आधार कार्ड में संशोधन और डाकघर चालू रहेगा। डाकघर के कर्मचारियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए उन्हें मास्क और सैनिटाइजर उपलब्ध करवाए गए हैं। इसके साथ ही मशीनों को भी हर रोज सैनिटाइज किया जा रहा है।

Posted By: Prashant Pandey

fantasy cricket
fantasy cricket