Coronavirus in MP : ग्वालियर। कोरोना (कोविड-19) के संदिग्ध को स्पॉट से अस्पताल तक रेस्क्यू करने के लिए पुलिस का एक स्पेशल स्क्वॉड बनाया गया है, इसमें 12 सदस्य होंगे। कंट्रोल रूम से सूचना मिलने के बाद तत्काल यह टीम संदिग्ध की मदद के लिए पहुंचेगी। टीम के सदस्य कोरोना संक्रमण से बचे रहें, इसके लिए हैदराबाद से स्पेशल ड्रेस उन्हें मुहैया कराई गई है। साथ ही मास्क और सैनिटाइजर से युक्त होकर टीम चलेगी। टीम के रेस्ट के लिए मेला ग्राउंड परिसर में 12 बेड का ऑफिस बनाया गया है। यह ऑफिस पूरी तरह सैनिटाइज युक्त है। पिछले कुछ समय में देखने में आया है कि कोरोना महामारी फैलने के बाद शहर के लोग अपने आसपास सतर्क है। अन्य शहरों, प्रदेश व विदेश में जॉब करने वाले अपने-अपने घरों को लौटकर आ रहे हैं। ऐसे में यह बाहर से आने वालों की सूचना लगातार पुलिस कंट्रोल रूम व डायल 100 पर लोग दे रहे हैं। अब बाहर से आने वाले लोगों को संदिग्ध मानकर उनको सबसे पहले स्क्रीनिंग, आइसोलेट करने की जिम्मेदारी होती है।

इसलिए मेडिकल टीम और नगर निगम के कर्मचारियों से पहले पुलिस को मौके पर पहुंचकर सूचना की तस्दीक और संदिग्ध को हैंडल करना पड़ रहा है। इसलिए पुलिस कप्तान नवनीत भसीन ने पुलिस रेस्क्यू टीम का गठन किया है। यह स्पेशल स्क्वॉड कंट्रोल रूम पर आने वाली हर सूचना के बाद एक्शन मोड में आकर काम करेगा।

बचाव के लिए हैदराबाद से आया सूट : रेस्क्यू टीम संदिग्ध को लिफ्ट करते समय किसी संक्रमण का शिकार न हो इसके लिए भी एक सैनिटाइज सूट दिया गया है। यह सूट हैदराबाद से तैयार होकर आया है। यह एल्यूमीनियम व अन्य तरह के कपड़े से बना है। एक सूट की अनुमानित कीमत लगभग 15 से 20 हजार रुपये है।

टीम ऐसे करेगी काम : कंट्रोल रूम पर मिले प्वाइंट पर सूचना आरआई अरविन्द दांगी और सूबेदार प्रबल प्रताप को मिलेगी। यहां से सूचना रेस्क्यू टीम प्रभारी सब इंस्पेक्टर नागेंद्र सिंह को मिलेगी। इसके बाद रेस्क्यू टीम चिह्नित स्थान पर पहुंचकर कोरोना संदिग्ध को उपचार के लिए भर्ती कराएगी। रेस्क्यू ऑपरेशन कंप्लीट होते ही टीम ऑफिस पहुंचकर सूचना देगी।

टीम में 12 सदस्य : रेस्क्यू टीम में 12 सदस्य हैं। इनमें 10 जवान, एक सब इंस्पेक्टर और एक वाहन चालक होगा। टीम के पास मरीज को लाने ले जाने और अस्पताल तक पहुंचाने के लिए एक मिनी बस होगी।

कोरोना संदिग्ध को कंट्रोल रूम से मिले प्वाइंट के बाद स्पॉट से रेस्क्यू कर अस्पताल तक पहुंचाने के लिए स्पेशल टीम बनाई गई है। टीम शुक्रवार से काम शुरू करेगी। - सुमन गुर्जर, एएसपी शहर

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket