ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। तिघरा के पास बनाए गए साडा में 32 एमएलडी का वाटर ट्रीटमेंट प्लांट है, इस प्लांट पर नगर निगम द्वारा सोलर पैनल लगाया जाएगा। इसके लिए नगर निगम आयुक्त किशोर कान्याल ने नगर निगम के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। वहीं तिघरा से से जलालपुर तक अमृत योजना के तहत बिछाई गई पाइप लाइन पर सोलर पैनल लगाए जाएंगे। इससे नगर निगम 3 से 4 मैगावॉट बिजली बना सकेगा। इस बिजली का उपयोग वाटर ट्रीटमेंट प्लांट पर किया जाएगा। तिघरा से जलालपुर तक डाली जा रही पानी की लाइन को गुरुत्वाकर्षण के लिए 14 मीटर की गहराई तक खोद कर बिछाया गया है। लेकिन इतनी खुदाई के बाद उसे भरा नहीं गया। लेकिन यह लाइन खुली रही तो यह हादसे का कारण बन सकती है इसके कारण नगर निगम आयुक्त किशोर कान्याल ने खुले हुए स्थान को ढकने के लिए इसके ऊपर सोलन पैनल लगाने का निर्देश दिया है। इससे पूर्व नहर के ऊपर गुजरात में सोलर पैनल लगाए गए थे। इस प्रकार के प्रयोगाें से अनउपयोगी जगहों का उपयोग कर नगर निगम सोलर पैनल लगा रहा है।इस तरह की योजनाओं से निगम को 3 से 4 मैगावाॅट बिजली भी मिलेगी। इसके साथ ही नगर निगम कचरा ट्रांसफर स्टेशनों, वाटर ट्रीटमेंट प्लांट, सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट, केदारपुर कचरा निस्तारण केंद्र, प्रधानमंत्री आवास योजना की छतों , सीएण्डडी बेस्ट प्लांट पर सोलर पैनल लगाने की योजना बना चुका है। सीएण्डडी बेस्ट प्लांट के स्थान पर जल्द ही सोलर पैनल लगाने के लिए टेण्डर जारी होने वाले हैं।

क्षेत्रीय कार्यालयों पर कराएं समग्र आइडी की केवायसी

मुख्यमंत्री जनसेवा अभियान के अंतर्गत समग्र आइडी धारकों के ई-केवायसी समग्र पोर्टल पर निश्शुल्क किए जाने के लिए विशेष अभियान प्रारंभ किया गया है। उपायुक्त जनकल्याण डा. अतिबल सिंह यादव ने बताया कि विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा विशेष अभियान प्रारंभ किया गया है। समस्त नागरिक अपने क्षेत्रीय कार्यालय स्थित केंद्रों पर जाकर समग्र पोर्टल की केवायसी करा सकते हैं। ई-केवायसी प्रक्रिया में नागरिकों की जानकारी का सत्यापन उनके आधार आइडी विवरण के अनुसार किया जाना है।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close