-ग्वालियर के कंपू स्थित आरटीओ आफिस में एजेंट का गजब खेल,खुद साइन-सील फार्म पर

-एजेंट के हस्ताक्षर-सील से कंफर्म होता है, कि यह फाइल होना है

वरुण शर्मा. ग्वालियर। बदनामी का ठप्पा लगाए बैठे प्रदेश का परिवहन विभाग गजब है। यहां आमजनता के लाइसेंस-फिटनेस से संबंधित रूटीन काम के फार्म पर आरटीओ साहब बाद में पहले एजेंट या कटर हस्ताक्षर करते हैं,सील भी लगाते हैं। हकीकत में यह अधिकारिक कुछ भी नहीं होता,यह चिड़िया जैसे हस्ताक्षर और एक लाल सील यह बता देती है कि इस फाइल का पैसा आ चुका है। लौटकर भी वही फाइल आती हैं जिनपर ऐसे हस्ताक्षर होते हैं। कंपू स्थित आरटीओ आफिस में एजेंट का काम करने वाला प्रमोद कुशवाह, यहीं से लोगों के अन्य एजेंटों के पास आए फार्म इनके पास पहुंचते हैं, यह स्थाई नया लाइसेंस हो या रिन्युअल,हेवी रिन्युअल हो या फिटनेस,यहां से साहब लोगों के पास पहुंचती है तो स्वीकृत होकर ही आती है। अब यहां सवाल कि ऐसी फाइलों पर ही आरटीओ के हस्ताक्षर क्यों होकर आते हैं, सीधी बात मामला गड़बड़ है। यहां हर काम की रिश्वत तय है।

नईदुनिया इंवेस्टिगेशन: ऐसे चल रहा है खेल

कंपू स्थित आरटीओ आफिस में नईदुनिया टीम ने शुक्रवार को पड़ताल की। यहां आरटीओ साहब कब मिलेंगें,उनसे काम है, तो एजेंटों से लेकर स्टाफ से बात की गई। लाइसेंस के काम कैसे हाेते हैं तो एक व्यक्ति ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि सभी एजेंटों के फार्म प्रमोद कुशवाह के पास जाते हैं, प्रमोद के जरिए आरटीओ साहब तक पहुंचते हैं। प्रमोद को जो फार्म स्थाई लाइसेंस, लाइसेंस रिन्युअल,हेवी रिन्युअल सहित फिटनेस के जो लोगों के दिए जाते हैं, उसपर एक अपने विशेष तरह के हस्ताक्षर प्रमोद करता है,एक लाल रंग की सील भी लगाई जाती है। पहले ही पैसा एडवांस दे दिया जाता है जिसमें रिश्वत की राशि होती है। यह सील और हस्ताक्षर यह स्पष्ट कर देते हैं कि रिश्वत एडवांस में आ चुकी है,अब स्वीकृति होना है। प्रमोद के पास वही फाइलें लौटकर आती हैं जिनपर हस्ताक्षर व सील उसकी होती है। इसके बाद उस व्यक्ति ने प्रमोद को दिखाया जो एजेंट की तरह वहां सड़क किनारे बैठा था और एक एजेंट उसे फार्म व एडवांस पैसा देकर आया जिसे नईदुनिया ने कैमरे में रिकार्ड किया।

यह रिश्वत के रेट तय

1-स्थाई नया लाइसेंस चार नंबर फार्म- इसकी फीस 1100 रूपए है और 400 रूपए अतिरिक्त रिश्वत के देने होते हैं।शेष खर्चा एजेंट लेता है।

2-लाइसेंस आर्डनरी रिन्युअल एलएमवी-दो पहिया- इसकी फीस 550 रूपए है और 300 रूपए रिश्वत के लिए जाते हैं।

3-हेवी रिन्युअल लाइसेंस- 550 रूपए फीस है और एक हजार रूपए रिश्वत के लिए जाते हैं।

4-फिटनेस सवारी-लोडिंग- 750 रूपए फीस तय है दो साल के लिए और पांच सौ रूपए उपर लिए जाते हैं।

आरटीओ बोले-मैं प्रमोद को नहीं जानता

इस संबंध में आरटीओ एसपीएस चौहान से नईदुनिया ने बात की तो उन्होने कहा कि वे प्रमोद को नहीं जानते हैं, प्रमोद के सील व हस्ताक्षर को लेकर पूछा तो कहा कि नहीं ऐसी जानकारी नहीं है। उन्होने कहा कि कई एजेंट बैठते हैं, लोग सीधे आकर मुझे बताएं मैं कार्य करता हूं।

प्रमोद बोला-मैं ऐसा नहीं कर रहा

इस बारे में एजेंट प्रमोद कुशवाह से बात की तो उसने बताया कि मैं तो एजेंट का काम करता हूं, हस्ताक्षर सील नहीं लगाता हूं। मुझे एजेंट लोग फार्म नहीं देते हैं।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close