Gwalior News Court News: ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। हाई कोर्ट की फटकार के बाद जिला न्यायालय के नवीन भवन के निर्माण में तेजी आ गई है। परिसर में पार्क बन गया है। प्रवेश गैलरी में पौधे लग गए हैं। रंगाई-पुताई के साथ-साथ कोर्ट भी तैयार होने लगे हैं। पांच फरवरी तक नए भवन में जिला न्यायालय की शुरुआत हो सकती है। इसके शुरू होने से इंदरगंज पर परेशानी कम हो जाएगी।

वर्ष 2008 में आनंद भारद्वाज ने जनहित याचिका दायर की और यह याचिका लंबित है। 2004 से नवीन भवन का निर्माण चल रहा है। इसकी गति काफी धीमी रही। इस कारण भवन का निर्माण कार्य चलते लंबा समय बीत गया। पुराने में भवन में आ रही परेशानियों को देखते हुए कोर्ट ने नाराजगी जताई है। भवन को जल्द-जल्द से पूरा करने का अादेश दिया था, लेकिन गति नहीं दिखी तो लगातार याचिका की सुनवाई की गई। भवन के पास निजी जमीन पड़ी है, जिसका अधिग्रहण होना है। जमीन अधिग्रहण के लिए 15 करोड़ 63 लाख रुपये आ चुके हैं, लेकिन अधिग्रहण की गति धीमी होने पर कोर्ट ने नाराजगी जताई थी।

920 कारों की पार्किंग की व्यवस्था

-पीआइयू के अनुसार 920 कारों को पार्क किया जा सकता है। तलघर, पहले व दूसरे माले पर कारों की पार्किंग की व्यवस्था की है। इसके अलावा मैदान में भी कार पार्किंग के लिए जगह संरक्षित है। दुपहिया वाहनों की पार्किंग के लिए पर्याप्त जगह छोड़ी गई है।

- ज्ञात है कि पुराने भवन पर सबसे बड़ा संकट पार्किंग का है। क्योंकि कोर्ट आने वाले अधिवक्ता के वाहनों की संख्या बढ़ी है। पक्षकार भी वाहन से आ रहे हैं। जिससे इंदरगंज पर जाम लगता है। नए भवन में यह समस्या खत्म हो जाएगी।

जिला न्यायालय के नए भवन के निर्माण पर एक नजर

- नवीन भवन के निर्माण के लिए 1999 प्राकलन तैयार किया गया था। उस वक्त 25 करोड़ रुपये स्वीकृत किए गए थे।

- वर्तमान में इसकी लागत 90 करोड़ रुपये से अधिक हो गई है। जिसमें 15.63 करोड़ से अधिक का फंड जमीन अधिग्रहण के लिए दिया गया है।

- निर्माण में हुई देर से भवन के निर्माण की लागत भी काफी बढ़ गई है।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close