Death of lineman News: ग्वालियर.नईदुनिया प्रतिनिधि। टोपी बाजार में हाईमास्ट लाइट ठीक करते समय हाईटेंशन लाइन की चपेट में आकर लाइनमेन की मौत हो गई। लाइनमेन लाल सिंह हाईड्रोलिक क्रेन की ट्राली में खड़े थे और इसी दौरान वे हाईटेंशन लाइन की चपेट में आ गए। इससे पहले 14 अगस्त 2021 को महाराज बाड़ा पर भी हाईड्रोलिक क्रेन क्षतिग्रस्त होने से तीन कर्मचारियों की मौत हो गई थी। निगम अब इसी एंगल पर जांच कराएगा कि पिछली दुर्घटना की तरह इसमें भी कोई समानता तो नहीं है। आखिर क्यों हाईड्रोलिक क्रेन संचालित करते समय ही इस तरह के हादसे हो रहे हैं।

टोपी बाजार से दही मंडी के लिए जाने वाले रास्ते के तिराहे पर हाइमास्ट लाइट कुछ दिन से खराब थी। व्यापारियों की शिकायत पर नगर निगम के विद्युत विभाग ने इसे सुधारने के लिए मंगलवार को अमला भेजा था। इसमें निगम के विनियमित कर्मचारी रायरू निवासी लाल सिंह चौहान को हाइड्रोलिक क्रेन की ट्राली में बैठाकर जमीन से 11 मीटर की ऊंचाई पर भेजा गया। लाइट के पास ही हाइटेंशन लाइन गुजरी हुई थी, जिसकी चपेट में लाल सिंह आ गया। तेज करंट के चलते लाल सिंह के शरीर से धुंआ निकलने लगा और वह बेहोश होकर ट्राली में ही गिर गया। हादसे को लेकर बाजार में अफरा तफरी का माहौल हो गया। हाइड्रोलिक क्रेन की ट्राली को नीचे उतारने में मशक्कत करनी पड़ी। हेल्पर के शरीर से निकल रहे धुआं को लेकर कुछ लोगों ने उस पर दूर से पानी फेंकना शुरु कर दिया। लाल सिंह को डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। इससे पहले 14 अगस्त को भी 2021 को भी हाइड्रोलिक क्रेन की ट्राली टूटकर गिरने से निगम के तीन कर्मचारियों की मृत्यु हो गई थी। नगर निगम आयुक्त किशोर कान्याल का कहना है कि इस मामले की जांच कराई जाएगी कि इस दुर्घटना के कारण क्या रहे। क्या क्रेन चालक ने ट्राली को हाईटेंशन लाइन के ज्यादा नजदीक ला दिया, जिससे यह हादसा हो गया।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close