Dengue sting in Gwalior: ग्वालियर,(नईदुनिया प्रतिनिधि)। डेंगू मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। मंगलवार को जीआरएमसी से जारी हुई रिपोर्ट में 11 मरीज डेंगू पाजिटिव पाए गए हैं। जिसमें 4 मरीज ग्वालियर के हैं, बाकी अन्य जिले के बताए गए हैं। ये मरीज ग्वालियर के निजी व सरकारी अस्पताल में भर्ती होकर इलाज ले रहे हैं। जिले में अब तक कुल डेंगू मरीजों की संख्या 127 हो चुकी है, जबकि मलेरिया विभाग का कहना है कि जिले के रहने वाले अब तक महज 103 लोग ही डेंगू के शिकार बने हैं। रुक-रुक कर बारिश होने से जलभराव की स्थिति बनी हुई है, जिसके कारण डेंगू का लार्वा पनप रहा है और डेंगू फैल रहा है। इससे बचाव को लेकर स्वास्थ्य विभाग लोगों में जनजागृति फैला रहा है। सितंबर के 27 दिन में 38 मरीज मिल चुके हैं, इससे साफ है कि आने वाले समय में सावधानी नहीं रखी गई तो डेंगू मरीजों की संख्या बढ़ सकती है।

बच्चे बड़े सब निकले संक्रमितः गोला का मंदिर का 6 साल का शिवहनु कुशवाह,हरिशंकरपुरम में रहने वाली 12 साल की अनुशरी उपाध्याय,भगत सिंह नगर के 29 साल के इंद्रजीत सिंह,कमल सिंह के बाग का रहने वाला 11 साल का अथर्व उपाध्याय,भिंड का रहने वाला 18 साल का आयुष राजावत, 8 साल का विशाल कुशवाह, 32 साल का रामजीलाल, धौलपुर का 9 साल का वैभव, मुरैना के 36 साल का मनीष दंडाैतिया, 13 साल का उमर,श्योपुर की 20 साल की सुरभि डेंगू की चपेट में आ गईं। इन्हें कुछ समय से बुखार था, उपचार के बाद भी जब बुखार नहीं टूटा तो डाक्टर की सलाह पर डेंगू की जांच कराई। जिसमें डेंगू की पुष्टि हुई।

5 लाख घरों में हुआ सर्वेः मलेरिया विभाग का दावा है कि जिले में 5 लाख 38 हजार घरों का सर्वे किया जा चुका है। जिसमें 15249 घरों में लार्वा की पुष्टि हुई है। करीब 20 हजार कंटेनर में लार्वा पाया गया। जहां पर दवा का छिड़काव किया गया। मलेरिया विभाग के अधिकारी पान सिंह का कहना है कि कुछ घरों का तो दो से तीन बार सर्वे किया गया, हर बार समझाने के बाद भी उन घरों में रहने वाले लोग पानी जमा करके रखते हैं और लार्वा पनप जाता है। यदि ऐसे लोगों पर जुर्माने की कार्रवाई की जाए तो डेंगू के प्रकोप को रोका जा सकता है।

ये सावधानी बरतेंः

-फुल अस्तिन के कपड़े पहनें, जिससे मच्छर आपको शिकार नहीं बना सकें।

-घर में कहीं भी पानी जमा नहीं होने दें, गमलों एवं कूलर में जमा पानी को नियमित रूप से खाली करें।

-पानी की टंकियों को ढंक कर रखें, जिससे डेंगू का लार्वा नहीं पनप सके।

-मच्छर मारने वाली मेडिकल या घरेलू सामग्री का उपयोग करें, जिससे मच्छर आपके घर से दूर रहें।

-कबाड़ का सामान यदि घर पर जमा है तो उसे साफ कर दें, जिससे उसमें पानी जमा नहीं हो सके।

-बुखार या डेंगू से संबंधित लक्षण दिखाई देने पर तत्काल चिकित्सक के पास जाकर चेकअप कराएं।

-घर के आसपास यदि कहीं पानी जमा है तो उसमें मिट्टी का तेल डाल दें।

वर्जन-

डेंगू की रोकथाम के लिए उपाय किए जा रहे हैं। मलेरिया विभाग के पास दवा,तेल आदि की उपलब्धता है। कर्मचारी लगातार सर्वे का काम कर रहे हैं। यदि आवश्यकता लगती है तो भोपाल से अनुमति लेकर भर्ती कर सर्वे का काम कराया जाएगा।

डा मनीष शर्मा, सीएमएचओ

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close