ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। सुपर स्पेशियलिटी हास्पिटल से डाक्‍टर नौकरी छोड़ रहे हैं। जिसको लेकर डाक्टरों की निजी ओपीडी की बात मानकर अब सुपर स्पेशियलिटी में निजी ओपीडी शुरू कर दी है। जबकि डाक्टरो का कहना है कि विशेषज्ञ डाक्टरों के भर्ती विज्ञापन में 10 फीसद वेतन वृद्घि, परिसर में आवास की सुविधा और तीन साल में पदोन्नति देने का वादा किया गया था। इसके बाद डाक्टरों ने सुपर स्पेशियलिटी में अपनी आमद दर्ज कराई, लेकिन मरीजों की संख्या कम होने पर स्थानीय स्तर पर निर्णय लिया गया कि शाम के समय निर्धारित शुल्क पर दो घंटे की ओपीडी चलाई जाएगी, लेकिन तीन साल गुजरने के बाद भी दो घंटे की ओपीडी शुरू नहीं हो सकी है। वहीं वेतन वृद्घि के नाम पर पहली वेतन पर आठ फीसद देने की बात कही जा रही है। इसके साथ ही परिसर में डाक्टरों को आवास की सुविधा भी उपलब्ध नहीं कराई गई। इन्हीं सब कारण के चलते सर्जन डा. तपस्या पंडित पिछले डेढ़ साल से अनुपस्थित हैं। पीडियाट्रिक सर्जन डा. मनोज जोशी ने भी व्यक्तिगत कारण बताते हुए नौकरी छोड़ चुके है। वहीं दो डाक्टर और नौकरी छोड़ने की तैयारी में हैं। हालांकि अब सुपर स्पेशियलिटी हास्पिटल में अब निजी ओपीडी शुरू हो चुकी है। यह ओपीडी शाम को 6 से 8 बजे के बीच चलेगी। जिसमें मरीज को 500 रुपये का शुल्क देकर डाक्टरों से परामर्श ले सकेगा। ओपीडी प्रतिदिन संचालित की जाएगी। जिसमें यूरोलोजी और पीड़ियाट्रिक सर्जरी के डाक्टर परामर्श दें। पहले दिन यूरोलाजी के डा उदय मिश्रा ने मरीजों को परामर्श दिया। सुपर स्पेश्यिालिटी अधीक्षक डा गिरजा शंकर गुप्ता ने बताया कि लंबे समय से निजी ओपीडी शुरू करने की बात चल रही थी। जब यह बात संभागायुक्त आशीष सक्सेना व जीआर मेडिकलेज के डीन डा अक्षय निगम के सामने रखी गई तो उन्होंने निजी ओपीडी शुरु करने के लिए निर्णय लेते हुए उसे चालू कराया।यह ओपीडी सातों दिन चलेगी और यहां पर डाक्टर मरीजों केा परामर्श देंगे। सुबह के समय ओपीडी निशुल्क होगी जबकि शाम के समय शुल्क देना होगा। किस दिन कौन डाक्टर परामर्श देगा इसके लिए दिन भी निश्चित किए गए हैं।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close