E-admission process started in Gwalior colleges: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। कॉलेज में ई-प्रवेश के लिए रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। विद्यार्थी 7 कॉलेजों की च्वाइस फिलिंग के साथ रजिस्ट्रेशन कराएंगे। पिछले साल की तरह इस बार भी विद्यार्थियों को कॉलेज के चक्कर नहीं काटने होंगे। आनलाइन रजिस्ट्रेशन कराने के बाद सत्यापन भी आनलाइन ही कराना होंगे। कॉलेज प्रशासन की चिंता स्कूल के परीक्षा परिणामों ने बढ़ा दी है। क्योंकि हायर सेकेंडरी का परीक्षा परिणाम सौ प्रतिशत रहा है। कोई भी विद्यार्थी फेल नहीं हुआ है, ऐसे में ज्यादा से ज्यादा विद्यार्थी कॉलेज में प्रवेश के लिए रजिस्ट्रेशन करेंगे। जिन कॉलेज में स्नातक में सीट्स कम है, उन्हें सीट्स बढ़ानी होंगी।

यूजी में प्रवेश प्रक्रिया शुरूः

प्रथम चरण का रजिस्ट्रेशन 12 अगस्त तकः प्रथम चरण की रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया शुरू हो चुकी है, जो 12 अगस्त तक चलेगी। वहीं ई-सत्यापन 2 से 14 अगस्त तक करा सकेंगे। साथ ही प्रथम चरण के सीट आवंटन एवं कट आफ 20 अगस्त को जारी किया जाएगा। वहीं 25 अगस्त तक आनलाइन फीस का भुगतान करना होगा।

द्वितीय चरण का रजिस्ट्रेशन 28 अगस्त सेः द्वितीय चरण में रजिस्ट्रेशन 28अगस्त से 3 सितंबर तक करा सकेंगे। 5 सितंबर तक दस्तावेजों का सत्यापन आनलाइन कराना होगा। सीट आवंटन एवं कट आफ 10 सितंबर को जारी किया जाएगा। वहीं 14 सितंबर तक आनलाइन फीस का भुगतान करना होगा।

दो चरण के बाद बकाया सीट्स के लिए सीएलसी राउंडः दो चरण के बाद बकाया सीट्स के लिए कॉलेज लेवल काउंसलिंग यानी सीएलसी राउंड रखा जाएगा। अगर सीट्स नहीं बचती तो सीएलसी राउंड नहीं होगा। पाठ्यक्रमों के अनुसार खाली सीट्स की जानकारी 16 सितंबर को पोर्टल पर दी जाएगी। सीएलसी चरण की मेरिट सूची 26 सितंबर को जारी की जाएगी।

15 प्रतिशत सीट्स बढ़ा सकते हैं कॉलेजः प्रवेश के लिए अधिक आवेदन होने पर कॉलेज अपने अनुसार 15 प्रतिशत सीट्स बढ़ा सकते हैं। इन सीट्स पर उन विद्यार्थियों को ही प्रवेश दिया जाएगा, जिनका रजिस्ट्रेशन पहले से हाे चुका हाे और किसी वजह से उनका चयन प्रवेश के लिए नहीं हो पाया।

पिछले साल भी बढाई थी सीट्सः केआरजी कॉलेज के प्रशासनिक अधिकारी संजय स्वर्णकार ने बताया कि पिछले साल ही प्रवेश प्रक्रिया के दौरान सीट्स बढ़ाई गई थी। अगर सीट्स कम पड़ती हैं तो बढ़ाई जाएंगी। शॉर्ट टर्म कोर्स में विद्यार्थियों को पहले कॉलेज अपने स्तर पर ही प्रवेश देता था, लेकिन अब इन कोर्स के लिए विद्यार्थियों को पोर्टल पर आनलाइन ही आवेदन करना होगा। यूजी में 4842 सीट्स हैं। पिछले साल की बात करें तो 3248 सीट्स भरीं थी और 1,594 खाली रहीं थी। आवश्यकता पड़ने पर सीट्स बढ़ाई जाएंगी।

साइंस कॉलेज में तीन हजार सीट्सः शासकीय आदर्श विज्ञान कॉलेज के प्रशासनिक अधिकारी प्रो.वीके गुप्ता ने बताया कि यूजी में तीन हजार सीट्स हैं। कभी सीट्स कम नहीं पड़ी हैं,इस साल एमपी बोर्ड और सीबीएसई बोर्ड रिजल्ट सौ फीसदी रहा है। इसलिए प्रवेश के लिए ज्यादा आवेदन आने की उम्मीद है। हर दिन पंजीयन प्रक्रिया के बाद स्तर देखते रहेंगे। पिछले साल की तरह इस साल भी प्रवेश प्रक्रिया आनलाइन होनी है। ऐसे विद्यार्थियों को कॉलेज में बुलाया जाएगा, जिनकी प्रवेश प्रक्रिया में दिक्कत देखी जाएगी।

वीआरजी कॉलेज में 2660 सीट्स यूजी मेंः वीआरजी कॉलेज के एडमिशन प्रभारी डा.आरएन खंडेलवाल ने बताया कि इस बार आनलाइन वेरिफिकेशन के बाद विद्यार्थियों तक ऑटोमेटिक मैसेज पहुंच जाएगा। कॉलेज में यूजी में 2660 सीट्स हैं। पिछले साल 300 सीट्स बढाई गई थी। इस बार सीट्स बढ़ाने के लिए उच्च शिक्षा विभाग की सारी कंडीशन पूरी करनी होगी।

कहां कितनी सीट्सः

जीवाजी यूनिवर्सिटी-1505 यूजी सीट्स

एसएलपी कॉलेज-1350 यूजी सीट्स

एमएलबी कॉलेज- 1730 यूजी सीट्स

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local