Stock Market Astrology: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। स्टाक मार्केट एक ऐसा विषय है। जिस में दिलचस्पी तो बहुत लोगों की होती है। कई बार उचित मार्गदर्शन तथा उचित ज्ञान होने के बावजूद लोग इस विषय की जानकारी के लिए ज्योतिष का दरवाजा खटखटाते हैं। क्योंकि ज्योतिष से स्टाक मार्केट का विश्लेषण किया जा सकता है। शेयर बाजार की गणना आर्थिक ज्योतिष के अंतर्गत आती है। शेयर मार्केट और ज्योतिष का कनेक्शन अद्भुत होता है।

बालाजी धाम काली माता मंदिर के ज्योतिषाचार्य डॉ. सतीश सोनी के अनुसार स्टाक मार्केट में सफलता पाना है। तो व्यक्ति की कुंडली में कौन सा ग्रह किस स्थिति में है। इसके अलावा कौन सा ग्रह स्टाक मार्केट में किस क्षेत्र से संबंध रखता है। ज्योतिष में ग्रहों को मजबूत करके कथिक क्षेत्र में सफलता सुनिश्चित कर सकते हैं। शेयर बाजार में सफलता के लिए जिम्मेदार ग्रह तो केतु और चंद्रमा तथा राहू होते हैं। जिनसे शेयर बाजार में लाभ हानि निर्धारित की जाती है। उसके अलावा कुंडली का पंचम भाव, अष्टम भाव और एकादश भाव अचानक धन लाभ को दिखाता है। वही बृहस्पति और बुध की स्थिति से शेयर बाजार में लाभ की स्थिति की गणना की जाती है। और अगर यह ग्रह कुंडली में मजबूत स्थिति में है। तो ऐसे व्यक्ति शेयर बाजार में बड़ी सफलता प्राप्त करते हैं। शेयर बाजार पर ग्रहों का प्रभाव होता है। वही ग्रहों के परिवर्तन भी शेयर बाजार को प्रभावित करते हैं। जब भी कोई ग्रह वक्री होता है। अथवा उदय और अस्त होता है। उसका प्रभाव निश्चित तौर पर शेयर बाजार पर देखने को मिलता है। जिन जातकों के जीवन में राहु अनुकूल प्रभाव देते हैं। ऐसे जातक भी शेयर बाजार में सफलता प्राप्त करते हैं।

कौन सा ग्रह शेयर बाजार में किस क्षेत्र से संबंध रखता है

सूर्य ग्रहः म्यूचल फंड ,लकड़ी, औषधि

चंद्रमाः कपाश ,जलीय वस्तु,शीशे

मंगल ग्रहः खनिज पदार्थ, भूमि, भवन, चाय और कॉफी

बुध ग्रहः शिक्षण संस्थाएं, बैंकिंग

गुरु ग्रहः सोना, पीतल, पीले रंग के अनाज

शुक्र ग्रहः चीनी, चावल, केमिकल

शनि ग्रहः लोहा, पेट्रोलियम, चमड़ा, काली वस्तु

राहु और केतुः शेयर बाजार के उतार-चढ़ाव तथा विदेशी वस्तुओं से

शेयर बाजार में सफलता के लिए ज्योतिषीय सूत्र

शेयर बाजार में सफलता के लिए राहु ग्रह का पक्ष में होना बेहद आवश्यक होता है। इसलिए राहु को मजबूत करने के लिए गोमेद पहने राहु के बीज मंत्रों का जाप खुद करें, अथवा ब्राह्मणों के द्वारा करावे, बुधवार और शुक्रवार को मछलियों को आटे की गोलियां बनाकर खिलाएं, दुर्गा चालीसा का पाठ करें।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close