Electricity employees strike News: ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के सिटी सर्कल में आउट सोर्स के 860 में से 475 कर्मचारी हड़ताल पर हैं। इनके हड़ताल पर जाने से बिजली कंपनी की सेवाएं प्रभावित हो गई है। यदि कर्मचारी हड़ताल जारी रखते हैं तो बिजली कंपनी की सेवाएं ज्यादा प्रभावित हो सकती है। 475 कर्मचारियों के काम का लोड दूसरे कर्मचारियों पर आ गया है। 12 घंटे से अधिक काम किया है। बिजली कंपनी ने इन परिस्थितयों को देखते हुए कर्मचारियों को आज काम पर लौटने का अल्टीमेटम दिया है। यदि काम पर नहीं लौटते हैं तो 350 कर्मचारियों को हटा दिया जाएगा।

आउट सोर्स कर्मचारी गत दिवस अपनी अलग-अलग मांगो लेकर रोशनी घर में धरने पर बैठ गए। इनके धरने पर बैठने की वजह से सब स्टेशन पर आपरेटर नहीं पहुंचे। फ्यूज आफ काल्स की गाड़ियों पर भी कर्मचारी नहीं पहुंचे। इस कारण सेवाएं प्रभावित हो गई थी। बुधवार को भी इसी तरह की स्थिति रही। की सब स्टेशन पर कर्मचारी नहीं पहुंचे और न फ्यूज आफ काल्स की गाड़ियों पर। पंच आपरेटर (केपीओ) भी हड़ताल पर है। सर्कल, डिवीजन, जोन कार्यालय में भी उपभोक्ताओं के काम नहीं हो सकेंगे। उपभोक्ताओं को निराशा मिलेगी।

इन मांगो के लेकर बैठे हैं धरने पर

-आउट सोर्स कर्मचारियों का अारोप है कि भाजपा ने 2013 में जनसंकल्प किया था। आउट सोर्स कर्मचारियों का संविलियन किया जाना था, लेकिन सरकार ने इस मांग को नहीं माना।

- संविदा व आउट सोर्स कर्मचारियों की अनावश्यक निष्कषन कर प्रताड़ित किया जा रहा है।

- मध्य प्रदेश संविदा ठेका श्रमिक कर्मचारी संघ इंटक ने भी इनके धरने को पूर्ण समर्थन दिया है। यह हड़ताल अनिश्चितकाल के लिए की गई है।

- उर्जा विभाग के प्रमुख सचिव से भी कर्मचारियों ने वार्ता की थी, लेकिन यह सफल नहीं हो सकी। इस वजह से हड़ताल पर चले गए।

- बिजली कंपनी की अधिकतर सेवाएं आउट सोर्स कर्मचारियों के भरोसे है। सब स्टेशन को आउट सोर्स कर्मचारी आपरेट कर रहे हैं।

- इस हड़ताल को लेकर अधिकारी व कर्मचारियों की छुट्टियां भी रद कर दी हैं। ट्रांसमिशन कंपनी के अाउट सोर्स कर्मचारी भी हड़ताल पर हैं।

लंबी चली हड़ताल तो प्रभावित हो सकती है सेवाएं

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close