- सड़क निर्माण के दौरान बार-बार फूट रही हैं लाइनें, काम हो रहा है प्रभावित

Energy Minister angry on Amrit: ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। सड़क निर्माण की धीमी गति से नाराज ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर को वापस जूते पहनने में बार-बार अमृत योजना की लाइनों का अड़ंगा लग रहा है। बार-बार पानी की लाइनें फूटने से सड़क राजपायगा रोड, लक्ष्मण तलैया मार्ग सहित अन्य सड़कों का काम गति नहीं पकड़ रहा है। इसको लेकर गुरुवार को ऊर्जा मंत्री ने जिला प्रशासन, नगर निगम तथा पुलिस सहित अन्य विभागों की बैठक ली। बैठक में ऊर्जा मंत्री अमृत योजना की लाइनों और बंद पड़ी स्ट्रीट लाइटों पर नाराज नजर आए, वहीं संभागीय आयुक्त दीपक सिंह ने भी कहा कि अमृत योजना की लाइनों में लगातार दिक्कत आ रही है। उन्होंने निगमायुक्त से कहा कि इस मामले में अमृत योजना से जुड़े इंजीनियरों की विभागीय जांच शुरू कराई जाए।

बैठक में ऊर्जा मंत्री ने कहा कि स्मार्ट सिटी, नगर निगम और लोक निर्माण विभाग के माध्यम से जिन सड़कों का कार्य किया जा रहा है, उनमें सीवर एवं पानी की लाइनें टूटने के कारण काम में देरी हो रही है। इसके लिए नगर निगम लाइनों के संधारण का कार्य तेजी से करे। उन्होंने यह भी कहा कि विकास के कार्यों में समन्वय बने, इसके लिए जिला कलेक्टर एक सेल का गठन करें। सड़कों के निर्माण के बाद पानी एवं सीवर के लिए सड़कें न खोदी जाएं। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि किला गेट से किले के ऊपर तक जाने के लिए नई सड़क का निर्माण होना है। शासन ने चार करोड़ रुपए की राशि स्वीकृत कर दी है। पुरातत्व विभाग सड़क का निर्माण करे अथवा एनओसी प्रदान करे, ताकि लोक निर्माण विभाग के माध्यम से कार्य कराया जा सके। इसके साथ ही किलागेट चौराहे के सौंदर्यीकरण का कार्य भी स्मार्ट सिटी के माध्यम से कराया जाए। चौराहे पर स्मार्ट शौचालय का निर्माण भी किया जाए। ऊर्जा मंत्री ने स्ट्रीट लाइटों की समस्या के निराकरण के लिए भी संबंधित एजेंसी के विरुद्ध कार्रवाई करने के निर्देश दिए। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि सड़कें और स्ट्रीट लाइटें खराब हैं। इन्हें सुधारने की जिम्मेदारी जिन ठेकेदारों की है, उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के लिए कहा जाता है, लेकिन फिर कार्रवाई क्यों नहीं होती। इस पर निगमायुक्त ने कहा कि इन समस्याओं का जल्द से जल्द निराकरण कराया जाएगा। बैठक में कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमित सांघी, नगर निगम आयुक्त किशोर कान्याल, सीईओ स्मार्ट सिटी नीतू माथुर, एडीएम एचबी शर्मा आदि मौजूद थे।

-एसपी से कहा-जाम की समस्या कराएं दूर

ऊर्जा मंत्री ने बैठक में कहा कि किला गेट, चार शहर का नाका और हजीरा चौराहे पर यातायात की समस्या रहती है। इसके निराकरण के लिए पुलिस कार्रवाई करे। इस पर पुलिस अधीक्षक अमित सांघी ने कहा कि तीनों ही स्थानों पर यातायात प्रबंधन के लिये अतिरिक्त बल लगाकर कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। संभागीय आयुक्त दीपक सिंह ने ऊर्जा मंत्री को आश्वस्त किया कि विकास के कार्यों में सभी विभागों का सहयोग रहेगा। कलेक्टर ने भी कहा कि एडीएम एवं एसडीएम के माध्यम से निरंतर निगरानी की जाएगी।

-स्वच्छता को बनाएं जन आंदोलन

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि शहर में स्वच्छता का कार्य पूरी गति के साथ संचालित किया जाए। स्वच्छता अभियान केवल निगम का नहीं बल्कि जनआंदोलन बने। समाज के सभी वर्गों को इससे जोड़ने का प्रयास किया जाए। इसके साथ ही सभी जनप्रतिनिधि और सभी विभागों के अधिकारी-कर्मचारी भी इस अभियान से जुड़कर शहर को स्वच्छ व सुंदर बनाने में अपना योगदान दें। व्यवसायिक क्षेत्रों में रात्रिकालीन सफाई हो। व्यवसाइयों को अपनी-अपनी दुकानों के सामने स्वच्छता के लिए डस्टबिन रखने की हिदायत दी जाए।

-ग्रीनफील्ड प्रोजेक्ट का देखा प्रेजेंटेशन

ईवाय कंपनी द्वारा तैयार की गई ग्रीनफील्ड परियोजना का प्रेजेंटेशन भी ऊर्जा मंत्री ने देखा। संभागीय आयुक्त ने उन्हें बताया कि ग्रीनफील्ड प्रोजेक्ट के तहत ग्वालियर में विशेष क्षेत्र विकास प्राधिकरण की 680 हैक्टेयर क्षेत्र में यह परियोजना तैयार की जा रही है। लगभग तीन हजार करोड़ रूपए की इस परियोजना में केंद्र सरकार की ओर से लगभग एक हजार करोड़ रूपए की धनराशि मुहैया कराई जाएगी। ऊर्जा मंत्री ने इस पर कहा कि इस परियोजना से साडा क्षेत्र का भी बेहतर विकास हो सकेगा।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close