- जिला पंचायत की साधारण सभा की बैठक में दिए निर्देश

ग्वालियर। (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिला पंचायत की सोमवार को पहली साधारण सभा आयोजित की गई। इस सभा में पानी, बिजली, राशन व खाद वितरण एवं स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने पर चर्चा की गई। जिला पंचायत अध्यक्ष दुर्गेश कुंवर सिंह जाटव ने कहा कि ग्रामीण अंचल के अस्पतालों में चिकित्सकों एवं पैरामेडीकल स्टाफ की उपस्थिति सुनिश्चित की जाए। इसमें किसी भी प्रकार की ढ़िलाई न हो। जल जीवन मिशन सहित सभी विभागों के कार्यक्रमों में जिला पंचायत सदस्यों को भी अनिवार्यत: भागीदार बनाएं। साथ ही कार्यक्रमों के बारे में विस्तार से जानकारी भी उपलब्ध कराएं।

सिरोल रोड़ पर स्थित जिला पंचायत के सभागार में आयोजित हुई साधारण सभा की बैठक में जिला पंचायत उपाध्यक्ष प्रियंका सिंह सहित मुख्य कार्यपालन अधिकारी आशीष तिवारी मौजूद थे। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी आशीष तिवारी ने बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए कि मुख्यमंत्री जन सेवा अभियान के तहत लगाए जा रहे शिविरों के साथ स्वास्थ्य शिविर भी लगाए जाएं। इन शिविरों में बीएमओ एवं सहयोगी स्टाफ दवाओं के साथ मौजूद रहें। उन्होंने बैठक में जानकारी दी की ग्रामीण अंचल की स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के लिये शहर में संलग्न 39 एएनएम को फिर से गांवों में पदस्थ कर दिया गया है।

बैठक में खाद पर भी चर्चा की गई। कृषि विभाग की ओर से बताया गया कि जिले में खाद की कोई कमी नहीं है। किसान अत्यधिक मात्रा में एडवांस रूप से खाद का उठाव करने से कुछ संस्थाओं पर आ रही दिक्कत भी जल्द ही दूर हो जाएगी। जिला पंचायत सीईओ तिवारी ने बैठक में जानकारी दी कि विभिन्न सहकारी संस्थाओं पर 25 टन के मान से यूरिया व अन्य उर्वरक का भण्डारण कराया जा रहा है। उप संचालक कृषि ने बताया कि इस साल किसानों को डीएपी भी उपलब्ध होगा। उन्होंने यह भी जानकारी दी कि खाद विक्रय में गड़बड़ी करने वाली पिछोर की दो संस्थाओं पर एफआईआर दर्ज कराई गई है। ग्रामीण क्षेत्र की विद्युत सेवाओं के प्रजेंटेशन के दौरान जानकारी दी गई कि ग्रामीण अंचल में बकाया विद्युत बिल की मात्र 10 प्रतिशत राशि जमा करने पर खराब ट्रांसफार्मर बदले जा रहे हैं।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close