- छुट्टी के दिन परीक्षा व गोपनीय विभाग में रिकार्ड की जांच की, पूरा रिकार्ड था मौजूद

ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जीवाजी विश्वविद्याल के अधिकारी व कर्मचारियों ने बुधवार को परीक्षा व गोपनीय विभाग के टेबुलेशन चार्टों की जांच की। दोनों विभाग के चार्ट विभागों के पास मौजूद थे। जिन टेबुलेशन चार्टों से शहर में रावण, मेघनाद, कुंभकर्ण के पुतले बनाए जा रहे थे, बीएससी 2020 के चार्ट थे। इन टेबुलेशन चार्टों को कालेज कापी मानकर चल रहे हैं, क्योंकि कालेज के टेबुलेशन चार्ट पर सील व हस्ताक्षर नहीं होते हैं। अब कालेजों से चार्ट के संबंध में पूछा जाएगा कि उनके चार्ट कहा हैं। कुलपति प्रो अविनाश तिवारी के अादेश पर रिकार्ड का मिलान किया गया था।

गोला का मंदिर पर रावण, मेघनाद व कुंभकर्ण के पुतले तैयार किए जा रहे थे। इन पुतलों में जिस कागज का उपयोग किया जा रहा था, उसमें जीजावी विश्वविद्यालय के टेबुलेशन चार्ट लगे हुए थे। यह चार्ट 2020 के थे। काफी परीक्षाओं के चार्ट पुतलों में उपयोग किया गया। टेबुलेशन चार्ट का वीडियो व फोटो तेजी से वायरल हुए तो जेयू में भी हड़कंप मच गया। क्योंकि टेबुलेशन चार्ट ऐसा दस्तावेज है, जिसे फेंका नहीं जाता है। न जलाया जाता है। हमेशा के लिए सुरक्षति रखा जाता है, क्योंकि इसके आधार पर ही मार्कशीट व विद्यार्थी के नबरों का सत्यापन होता है। भविष्य में किसी भी सत्यापन की जरूरत पड़ जाए तो टेबुलेशन चार्ट से ही होता है। यदि चार्ट गलत बन गए हैं तो उन्हें कटर से विभाग ही काट दिया जाता है। कुलपति प्रो अविनाश तिवारी ने इन टेबुलेशन चार्टों को लेकर छुट्टी के दिन सभी अधिकारी व कर्मचारी बुलाए। परीक्षा व गोपनीय विभाग में रखे टेबुलेशन चार्टों की जांच कराई। दोपहर तीन बजे तक इनकी जांच चली। जब रिकार्ड पूरा मिल गया तो राहत की सांस ली। अब कालेजों से चार्टों के संबंध में पूछा जाएगा।

रद्दी से खरीदे थे चार्ट

- जिस व्यक्ति द्वारा पुतलों में चार्टों का उपयोग किया जा रहा था, उसने रद्दी से खरीदे थे। यह रद्दी उसने जेयू की रद्दी खरीदने वाले से खरीदी थी। नैक निरीक्षण के चलते जेयू में सफाई अभियान चलाया जा रहा है। अनुपयोगी कागज व रद्दी को बेचा जा रहा है।

- जेयू में बीएससी नर्सिंग के रिजल्ट में फर्जीवाड़ा हुआ था। चार्ट बदलकर फेल विद्यार्थियों को पास कर दिया था। बीएड में भी फर्जीवाड़ा हो चुका है। फर्जी मार्कशीट के मामले भी सामने आए हैं। इसलिए टेबुलेशन चार्ट को लेकर सवाल खड़े हो रहे हैं।

- गत दिवस यह मामला संज्ञान में अा गया था, मौके पर जेयू ने चार्टों की जांच नहीं कराई। अब ये रिकार्ड रावण, कुंभकर्ण व मेघनाद के पुतलों के साथ जल जाएगा। पीजी कालेज गुना सहित अन्य कालेजों के चार्ट थे। 2020 में तैयार किए गए थे।

इनका कहना है

- परीक्षा व गोपनीय के चार्टों की जांच करा ली है। दोनों ही विभागों के टेबुलेशन चार्ट मौजूद हैं। हमारा रिकार्ड पूरा मौजूद है। जो चार्ट मुझे दिखाए गए थे, वह कालेज कापी है। कालेज कापी पर सील व हस्ताक्षर नहीं होते हैं। अब कालेजों से उनके चार्टों के बारे में पूछा जाएगा।

प्रो अविनाश तिवारी, कुलपति जीवाजी विश्वविद्यालय

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close