ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। जिला अस्पताल के आइसीयू की फालसीलिंग टूटकर गिर गई। जिसको लेकर भर्ती मरीजों में दहशत फैल गई। छत गिरन से पूरे अस्पताल में हड़कंप मच गया और आनन फानन में आइसीयू को खाली कराया गया। मरीजों को मेडिसिन वार्ड में शिफ्ट किया गया तो दो मरीजों केा जेएएच के रैफर कर दिया गया। घटना की जानकारी लगते ही प्रदेश के बीज निगम के अध्यक्ष मुन्नालाल गाेयल अस्पताल पहुंचे और पूरे मामले की जानकारी ली। असल में आसमान से हाे रही बारिश और जिला अस्पताल के दूसरे माले पर चल रहा निर्माण कार्य फाल सीलिंग टूटने का कारण बताया जा रहा है। क्योंकि अस्पताल उन्नयन के लिए चल रहे निर्माण कार्य के चलते आइसीयू की छत में पानी का रिसाव हो रहा है। जिसके चलते फालसीलिंग टूट कर गिर ई। गनीमत यह रही कि जहां पर छत टूटकर गिरी वहां पर कोई नहीं था। स्टाफ का कहना था कि आईसीयू की छत्त से जगह-जगह पानी टपकने की शिकायत एक सप्ताह पहले भी की गई थी तब किसी ने कोई एक्शन नहीं लिया था। जिसको लेकर आईसीयू के स्टाफ ने अधिकारियों से शिकायत भी की थी। लेकिन अधिकारियों द्वारा इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया गया और जब फाज सीलिंग गिर गई तो आईसीयू को खाली कराया गया।

14 अक्टूबर को हुआ था लोकार्पण

जिला अस्पताल में बने लाखों की लागत से आईसीयू का लोकार्पण 14 अक्टूबर 2021 में केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा किया गया था। लोकार्पण कार्यक्रम में केन्द्रीय मंत्री के अलावा स्वास्थ्य मंत्री , ऊर्जा मंत्री , उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री के अलावा सांसद भी मौजूद रहे थे।

इनका कहना है-

आइसीयू का निर्माण पीआइयू द्वारा तैयार किया गया था। अब अस्पताल निर्माण का काम पुलिस हाउसिंग कर रही है। जिसे निर्देश दिए है कि पानी आइसीयू में न आए ,उन्होंने सतर्कता बरतने के उपाय करना भी शुरू कर दिए हैं।

डा आलोक पुरोहित, आरएमओ जिला अस्पताल

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close