ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि )। मणप्पुरम फाइनेंस कंपनी के विनय नगर शाखा से 4 किलो 297 ग्राम सोने के 13 पैकेट गायब हैं। यह सोना 18 लोगों ने गिरवी रखकर कंपनी से 1.92 करोड़ रुपये लोन लिया था। यह सोना ब्रांच मैनेजर रिषी गुप्ता की निगरानी में रहता था। सोने के साथ अब ब्रांच मैनेजर भी गायब है। पुलिस ने मैनेजर रिषी कुमार गुप्ता के खिलाफ धोखाधड़ी व अमानत में खयानत का मामला दर्ज किया है। कंपनी के रीजनल मैनेजर जस्टिन साजी ने बहोड़ापुर थाने में गुरुवार को इस संबंध में लिखित आवेदन दिया है। पुलिस को आशंका है कि जिन लोगों ने यह सोना गिरवी रखा था, वे भी इस साजिश में शामिल हो सकते हैं। आरोपित ब्रांच मैनेजर से उनके संबंधों की जानकारी का भी पुलिस पता लगा रही है।

एएसपी अभिनव चौकसे ने बताया कि मणप्पुरम फाइनेंस कंपनी सोना अपने पास सुरक्षित रखकर लोन देती है उनकी विनय नगर शाखा के मैनेजर रिषी गुप्ता थे। कंपनी के नियमानुसार गिरवी रखा सोना ब्रांच मैनेजर के निगरानी में रहता है। ब्रांच मैनेजर ही निर्धारित मापदंडों के अनुसार सोने का परीक्षण कराने के बाद उसका मूल्य पता करते थे। इसके बाद संबंधित को रुपये फाइनेंस किए जाते हैं। 2021 के जुलाई से सितंबर के मध्य 4 किलो 297 ग्राम सोना गिरवी रखकर लोन लिया गया था। यह सोना 13 पैकेटों में ब्रांच मैनेजर की निगरानी में रखा गया था। अब सोने के साथ ब्रांच मैनेजर भी गायब है। पुलिस का मानना है कि रिषी गुप्ता की गिरफ्तारी के बाद ठगी के इस रैकेट का खुलासा हो सकता है। पुलिस की टीमें आरोपित की तलाश कर रहीं हैं।

स्टाक मेंटनेंस के दौरान पता चली गड़बड़ीः मणप्पुरम फाइनेंस कंपनी आगरा उत्तर प्रदेश के रीजनल मैनेजर जस्टिन साजी ने गुरुवार को बहोड़ापुर थाने में लिखित शिकायत में बताया कि गिरवी रखा गया सोना 13 पैकेटों में रखा गया था, जब स्टाक मेंटनेंस के दौरान यह पैकेट कंपनी में नजर नहीं आए. इसके बाद जब ब्रांच मैनेजर से पूछताछ की गई तो उसका फोन बंद मिला। कंपनी स्तर पर पूरी जांच करने के बाद मामला पुलिस को सौंपा गया है।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close