ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। शहर के सिरोल और महाराजपुरा थाने में दो एफआइआर दर्ज हुई हैं। यह एफआइआर उन लोगों पर दर्ज हुई है, जिन्होंने करोड़ों रुपए की जमीन खुर्द-बुर्द कर दी। महाराजपुरा में कानपुर की रहने वाली महिला की करीब डेढ़ करोड़ रुपए की जमीन ठगों ने फर्जीवाड़ा कर किसी अन्य को बेच दी। वहीं सिरोल में डूब क्षेत्र में आ चुकी जमीन का मुआवजा लेकर इसे बेचने का मामला सामने आया है। कोर्ट के माध्यम से बंटवारे का आदेश कराया और इसे बिल्डर को बेच दिया। दोनों ही मामलाें में पुलिस ने एफआइआर दर्ज कर ली है।

महाराजपुरा क्षेत्र में बेहट टोल के पास गीता मिश्रा पत्नी मुन्नालाल मिश्रा की जमीन थी। वह कानपुर रहती हैं। उनकी जमीन को अपना बताकर इसका सौदा अन्य लोगों ने कर दिया। गीता मिश्रा की जगह दूसरी महिला को खड़ा कर दिया और जमीन की रजिस्ट्री कर दी। जमीन की कीमत करीब डेढ़ करोड़ रुपए है। जब इस फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ तब हुआ जब गीता को पता लगा। उन्होंने पुलिस अधिकारियों से शिकायत की। कई बार पुलिस अधिकारियों से शिकायत की, लेकिन इस मामले में अब एफआइआर हुई है। महाराजपुरा थाना प्रभारी प्रशांत यादव ने बताया कि इस मामले में धर्मेंद्र तोमर, आशुतोष सिंह, विकास सिंह व उस महिला पर एफआइआर दर्ज हुई है जिसे गीता मिश्रा बताकर रजिस्ट्री की गई। पुलिस ने धोखाधड़ी, कूटरचित दस्तावेज तैयार करने व अन्य धाराओं में एफआइआर दर्ज की है।

उधर सिरोल इलाके में रहने वाले रामवीर, रामेश्वर, दशरथ, गीता देवी पर धोखाधड़ी की एफआइआर राजस्व विभाग की ओर से दर्ज कराई गई है। सिरोल थाना प्रभारी गजेंद्र सिंह धाकड़ ने बताया कि इन लोगों की सिरोल इलाके में जमीन थी। यह जमीन डूब क्षेत्र में आ रही थी, इसके चलते इस जमीन को सरकारी घोषित कर दिया गया। इस जमीन के एवज में इन्हें मुआवजा दिया गया। मुआवजा लेने के बाद इन लोगों ने कोर्ट में तथ्यों को छिपाकर बंटवारे के लिए आवेदन लगाया। कोर्ट को गुमराह करने के बाद यह जमीन बिल्डर डा.पुरुषोत्तम जाजू को बेच दी। जब इस फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ तब राजस्व विभाग की ओर से शिकायत की गई। इस मामले में पुलिस ने एफआइआर दर्ज कर ली है।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close