ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। त्योहार का सीजन शुरू हो चुका है। ऐसे में वह ठग भी सक्रिय हैं, जो लुभावने ऑफर का झासा देकर ठगी करते है। अगर इनके चक्कर में फंसे तो खाता हो जाएगा खाली। जी हां यह बिल्कुल सच है, क्योंकि लुभावने ऑफर के मैसेज की आड़ में फिशिंग लिंक भेजकर व अन्य तरीके से सायबर फ्रॉड करने वाली गैंग सक्रिय है। अगर इनके मैसेज में दी गई लिंक पर क्लिक भी किया तो हो सकता है मोबाइल हैक कर लें और पे वॉलेट व बैंक खाता खाली कर दें। ऐसी घटनाएं हो चुकी है। इसलिए ग्वालियर पुलिस ने भी इसे लेकर एडवायजरी जारी की है।

ऐसे होती है घटनाएं -

- ठग मोबाइल में मैसेज भेजते हैं कि त्योहार के चलते आपका नाम, नंबर या ईमेल लकी वन में चयनित हुआ है। इसलिए आपको रूपए मिलेंगे। यह लोग एक लाख रुपए से लेकर पचास लाख रुपए तक जितने का झांसा देकर फंसाते है। अगर इनकी दी गई लिंक पर क्लिक किया तो यह लोग मोबाइल हैक करते हैं। या एक पेज खुलता है, जिस पर पूरी जानकारी भरवा लेते हैं और ठगी करते हैं।

- इसी तरह किसी भी बहाने लिंक भेजकर आपसे एप डाऊनलोड कराते है। एप डाऊनलोड करते ही पूरा मोबाइल ठग ही उपयोग करता है। वह पूरी गोपनीय जानकारी निकाल लेता है।

- बड़े ब्रांड के नाम का उपयोग कर फर्जी मैसेज ठगने के लिए भेजे जा रहे हैं।

- कई ठग फोन भी करते हैं। जिससे लोग झांसे में आ जाएं। यह लोग बड़े ब्रांड का कर्मचारी बताकर काल करेंगे। बैंक खाते की जानकारी, ओटीपी पूछ लेते हैं।

- सस्ता सामान, सस्ती ज्वेलरी और भी अन्य सामान सस्ती दरों पर उपलब्ध कराने का झांसा देकर ठगते हैं।

ऐसे बचें -

- कभी भी कोई बड़ी कंपनी जो ऑफर भेजती है, उसके कर्मचारी बैंक खाता व अन्य जानकारी नहीं पूछते। सिर्फ विजिट के लिए काल आता है।

- कोई भी बड़ी कंपनी या बैंक कोई लाटरी नहीं निकालते। यह सभी मैसेज लोगों को फंसाने के लिए होते है।

- अंजान लिंक पर क्लिक न करें।

- कभी भी अनजान लिंक पर क्लिक कर एप डाऊनलोड न करें। यह ठग इनिदेस्क और टीम व्यूवर एप सबसे ज्यादा डाऊनलोड कराते हैं, फिर पूरी डिवाइस की कंट्रोल अपने हाथ में लेकर ठगी करते है।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close