ग्वालियर.नईदुनिया प्रतिनिधि। शुक्रवार सुबह ग्वालियर रेलवे स्टेशन के आउटर के पास डाउन ट्रैक पर एक घायल युवक पढ़ा होने की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे आरपीएफ के जवानों ने घायल को रेल ट्रैक से हटाकर तत्काल एंबुलेंस की मदद से से उपचार के लिए ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया। प्लेटफार्म नंबर दो के आउटर पर युवक के पड़े होने कारण मुम्बई से ग्वालियर पहुंची राजधानी एक्सप्रेस तीस मिनट तक प्लेटफार्म पर खड़ी रही। युवक को हटाने के बाद राजधानी को रवाना किया जा सका। आरपीएफ से मिली जानकारी के अनुसार आज शुक्रवार की सुबह साढ़े छह बजे प्लेटफार्म नंबर दो के डाउन रेल ट्रैक पर एक युवक गंभीर हालत में पड़ा हुआ था। युवक के घायल होने की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे आरपीएफ जवानों ने रेल किमी 1224/06 08 से हटाया। इसी बीच प्लेटफार्म नंबर दो पर राजधानी एक्स्प्रेस आकर खड़ी हो गई। युवक को रेल ट्रैक से हटाने के 30 मिनट बाद राजधानी एक्सप्रेस आगरा के लिए रफ्तार पकड़ सकी। घायल मिले युवक ने अपना नाम बारेलाल पुत्र कुडई उम्र 35 साल निवासी रेलवे फाटक के पास बानमोर होना बताया है। लेकिन वह कैसे घायल हुआ इस बारे में कुछ भी नहीं बता पा रहा है। आरपीएफ स्क्वाड घायल युवक के ठीक होने का इंतजार कर रहे हैं।

गवाह को धमकी नहीं मिली जमानत

हत्या के मामले में गवाह को धमकी दिए जाने के मामले में न्यायालय ने आरोपी तारे सिंह तोमर के अग्रिम जमानत आवेदन को खारिज कर दिया है। फरियादी ओमकार सिंह ने इंदरगंज थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई की उसके भाई सुदीप सिकरवार की हत्या के नामजद आरोपी राघवेन्द्र तोमर, राधेश्याम, तारे तोमर, गुलशन तोमर व उनके अन्य साथियों ने 17 मई को दोपहर में उसे और उसके भाई रविन्द्र सिकरवार व अन्य साथी को इंदरगंज चौराहे पर उसके भाई की हत्या के मामले में गवाही देने से रोकते हुए गालियां दो आरोपियों ने धमकी दी की अगर उन्होंने गवाही दी तो उन्हें खत्म कर दिया जाएगा। इस मामले में आरोपी आवेदक फरार है। न्यायालय ने प्रकरण के तथ्यों को देखने के बाद आरोपी के आवेदन को खारिज कर दिया।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close