Gwalior Crime News: ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। शहर में बेटियां असुरक्षित हैं। जनवरी से जून के बीच छह माह में किशोरियों से दुष्कर्म की 35 घटनाएं हुईं, इनमें सभी पीड़िताएं नाबालिग हैं। तीन पीड़िताएं 10 साल से कम उम्र की हैं। इस तरह की घटनाएं लगातार हो रही हैं। नाबालिग और छोटी बच्चियों से दुष्कर्म व छेड़छाड़ के मामले में तो आरोपी करीबी ही निकल रहे हैं, कई मामलों में तो रिश्तेदार, पड़ोसी ही आरोपी निकले। इसलिए अब बच्चियों को करीबीयों से भी बचाने की जरूरत है। जिससे इस तरह की घटनाएं रुक सकें। बच्चों को गुड टच, बैड टच के बारे में जानकारी दें। खासकर बच्चियों से रोज बात करें, अगर वह गुमसुम दिखाई दे तो उससे कारण पूछें, उससे एक दोस्त की तरह बात करें जिससे हर बात साझा करे।

यह बड़ी घटनाएं...

1- हजीरा इलाके में रहने वाली 9 वर्षीय बच्ची के साथ उसके रिश्तेदार ने ही दुष्कर्म किया, फिर बच्ची की बेरहमी से हत्या कर डाली। आरोपित कल्लू राठौर बच्ची का बाबा लगता है। बच्ची उसे बाबा ही कहती थी, फिर भी उसने बच्ची के साथ दरिंदगी कर डाली। इस मामले में तो आरोपित अभी तक पकड़ा ही नहीं जा सका है।

2- माधोगंज इलाके में रहने वाली तीन साल की बच्ची के साथ पड़ोसी किराएदार के रिश्तेदार लालू जादौन ने ज्यादती की। वह बच्ची को टाफी दिलाने के बहाने छत पर ले गया। यहां बच्ची के साथ ज्यादती की, बच्ची को धमकाता रहा। बच्ची डरी सहमी रही लेकिन किसी को कुछ नहीं बताया। जब तक आरोपित घर के आसपास घूमता रहा, बच्ची चुप रही। आरोपित यहां से भागकर राजस्थान चला गया। राजस्थान में उसका घर है। जैसे ही आरोपित भागा तो बच्ची ने अपनी मां को रोते हुए पूरी घटना बताई। बच्ची के परिजन उसे माधोगंज थाने लेकर पहुंचे। पुलिस ने दुष्कर्म, पाक्सो एक्ट की धारा में एफआइआर दर्ज की।

आंकड़े-

1 जनवरी 2022 से लेकर 29 जून 2022 के बीच करीब छह माह में नाबालिगों से दुष्कर्म की 35 घटनाएं हुई हैं। इसी अवधि में छेड़छाड़ की 38 घटनाएं हुईं।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close