Gold smugglers News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। ग्वालियर विमानतल पर जिन चार तस्करों को 60 लाख रुपए के साथ पुलिस ने पकड़ा था, उनसे पूछताछ में कई खुलासे हुए हैं। यह तस्कर पहली बार सोना लेकर भारत नहीं आए, बल्कि देश के अलग-अलग डोमेस्टिक एयरपोर्ट पर विमान के जरिये सोने की तस्करी कर चुके हैं। दस बार में लाखों रुपए का सोना लाने की बात स्वीकार की है। इनके एक साथी की पुलिस को तलाश है, जो मुख्य तस्कर बताया गया है। वह मुंबई का रहने वाला है।

दो दिन पहले ग्वालियर विमानतल पर 60 लाख रुपए का सोना लेकर आए चार तस्करों को ग्वालियर पुलिस ने पकड़ा था। यह लोग दुबई से कच्चा सोना लेकर आए थे। जिस विमान से यह लोग ग्वालियर आए थे, उसी से दुबई से आए थे। जिस सीट पर सोना चिपकाया, उसी सीट को प्रीमियम कीमत देकर बुक किया और ग्वालियर आ गए। ग्वालियर में डोमेस्टिक एयरपोर्ट है, इसलिए कस्टम विभाग नहीं रहता इसलिए यह लोग सोना ग्वालियर लाए थे। पकड़े गए आरोपितों के नाम मोहम्मद अनीस, मंजूर आलम, अनवर अली और रिसालत अली हैं। यह लोग उत्तरप्रदेश के रहने वाले हैं। सीएसपी महाराजपुरा रवि भदौरिया ने नईदुनिया को बताया कि चारों आरोपितों को भोपाल से आई कस्टम विभाग की टीम ने लंबी पूछताछ की, जिसमें मुनाफे की पूरी जानकारी ली। इसके अलावा डोमेस्टिक एयरपोर्ट के बारे में पूछताछ की, जहां यह लोग पहले सोना ला चुके हैं। इसमें इंदौर और लखनऊ के बारे में इन्होंने बताया। रिसालत पहले इंदौर में सोने के साथ पकड़ा गया था।पूछताछ में इन्होंने बताया पहले दुबई से फ्लाइट में बैठते थे, इसके बाद जो फ्लाइट इंटरनेशनल से डोमेस्टिक हो जाती है, उसी की प्रीमियम कीमत देकर सीट बुक करवाते थे। जिस डोमेस्टिक एयरपोर्ट पर यह फ्लाइट उतरती थी, वहां तक के लिए बुकिंग कराते थे क्योंकि डोमेस्टिक एयरपोर्ट पर कस्टम विभाग की चेकिंग नहीं होती। इसलिए इस बार ग्वालियर फ्लाइट आ रही थी तो ग्वालियर तक का टिकट करवा लिया। दस बार यह लोग इस तरह सोना ला चुके हैं।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close