ग्वालियर (नप्र)। जीआरपी बुधवार को रेलवे स्टेशन पर बम की अफवाह फैलाने वाले आरोपित लक्ष्मण उर्फ लाखन प्रजापति को उसके गांव ग्राम सौरा, थाना सैंया आगरा लेकर पहुंची। उसके घर की तलाशी ली। वह उत्तर प्रदेश पुलिस को भी गलत सूचनाएं देकर परेशान करता था, इसलिए यूपी पुलिस से भी जानकारी जुटाई गई है। दिो दिन पहले लक्ष्मण प्रजापति ने डायल 100 पर फोन करके सूचना दी कि रेलवे स्टेशन पर बम रखा हुआ है। इस पर पुलिस ने स्टेशन को खाली करा दिया। तीन ट्रेनों के प्लेटफार्म बदले गए। बम निरोधक दस्ते ने पूरे स्टेशन की जांच की। दो घंटे तक यात्री दहशत में रहे और परेशान भी हुए। उसे दस घंटे बाद शनिश्चरा से गिरफ्तार कर लिया। उसने पुलिस को गलत सूचना कई बार दीं, लेकिन पकड़़ा पहली बार गया है।

सामूहिक दुष्कर्म करने वाले दो आरोपितों को 20-20 साल की सजा

विशेष सत्र न्यायालय ने सामूहिक दुष्कर्म करने वाले दो आरोपितों को 20-20 साल की सजा दी है। साथ ही दो-दो हजार रुपये का जुर्माना लगाया है। आरोपितों को सजा काटने के लिए जेल भेज दिया। जीतू उर्फ जितेंद्र जाटव व देशराज पाल को सजा सुनाई है। अतिरिक्त जिला लोक अभियोजन अधिकारी अनिल मिश्रा ने बताया कि पीड़िता ने पुलिस थाना पनिहार में 05 सितंबर 2017 मे शिकायत की। उसने बताया कि गांव से कोचिंग पढने ग्राम बनवार जा रही थी। बनियातोर का जीतू ऊर्फ जितेंद्र व उसका दोस्त देशराज मोटर साइकल से आए। उसे जबरदस्ती मोटर साइकल पर बैठाकर चंद्रवदनी नाका ग्वालियर में एक कमरे में ले गए उसी कमरे में उसके साथ जीतू व देशराज दुष्कर्म किया।

युवक से रुपये और मोबाइल लूटने वालों की तलाश

माधौगंज इलाके में रहने वाले ब्रजेंद्र सिंह कुशवाह से रुपये और मोबाइल लूटने वालों की तलाश पुलिस कर रही है। माधौगंज पुलिस ने अज्ञात बदमाशों पर एफआइआर दर्ज की थी। फिलहाल बदमाशों का पता नहीं लगा है। उधर गोला का मंदिर इलाके में लूट के मामले में एक और संदेही को पूछताछ के लिए पुलिस ने उठाया है। माधौगंज इलाके में रहने वाले ब्रजेंद्र कुशवाह के साथ रात करीब डेढ़ बजे चार बदमाशों ने वारदात की थी।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close