Guru will be Margi: विजय सिंह राठाैर, ग्वालियर नईदुनिया। ज्योतिष शास्त्र में गुरु को एक महत्वपूर्ण ग्रह माना गया है। गुरु की गिनती सबसे बड़े ग्रह में की जाती है। ज्योतिषाचार्य सुनील चोपड़ा ने बताया कि गुरु ग्रह 20 जून को वक्री हुए थे, अब 120 दिन तक वक्री रहने के बाद 18 अक्‍टूबर को गुरु बृहस्पति मार्गी होने जा रहे हैं।

गुरु का संबंध ज्ञान, उच्च शिक्षा, उच्च पद, विवाह, संतान, दान और धर्म से भी है। गुरु ग्रह से प्रभावित व्यक्ति गंभीर और विद्वान होता है। ऐसे लोगों को सम्मान प्राप्त होता है। ऐसे लोग दूसरों को भी ज्ञान और मार्गदर्शन प्रदान करते हैं।

गुरु की चाल में यह परिवर्तन इन चार राशि वालों के लिए बेहद शुभ साबित होगा। मिथुन राशि के जातकों को धन लाभ होने के प्रबल योग बनेंगे। लंबे समय से अटके काम पूरे होंगे। पद-सम्‍मान मिल सकता है। कर्क राशि के जातकों के लिए मार्गी गुरु जाब में उन्नति देंगे। वहीं नौकरी बदलने के इच्‍छुक लोगों को मनचाही नौकरी मिलेगी। नया वाहन खरीदने के योग बनेंगे। धनु राशि के जातकों को भी करियर में सफलता मिलेगी। गुरु धनु राशि के ही स्वामी है, इसलिए इस राशि के जातकों पर उनकी विशेष कृपा रहेगी। आर्थिक तंगी समाप्त होगी। मीन राशि वाले यदि नया काम शुरू करना चाहते हैं तो यह समय अच्छा रहेगा। व्यापारियों को लाभ होगा।

जिन राशि वालों को गुरु के अच्छे फल नहीं मिल रहे वह यह उपाय करेंः शिव मंत्रों का जाप करें। गुरुवार को व्रत रखने से भी गुरु की शुभता बढ़ती है। गुरुवार को भगवान विष्णु की पूजा करें और पीली वस्तुओं को अर्पित करें। गुरु को प्रसन्न करने का मंत्र- ॐ बृं बृहस्पते नम: मंत्र का जाप करें।

नाेटः इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local