ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। किशोरों का टीकाकरण बढ़ाने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। प्रशासन के निर्देश पर आशा, आंगनबाड़ी, शिक्षक, बीएलओ सहित अन्य विभागों से करीब नौ हजार कर्मचारी मैदान में उतर चुके हैं। इसके बाद भी किशोरों का टीकाकरण नहीं बढ़ पा रहा है। एक कर्मचारी को एक दिन में 50 घर का लक्ष्य भी रखा गया, लेकिन यह लक्ष्य कागजों में पूरा हो रहा है या फिर अमला मैदान में पहुंच ही नहीं रहा। इसकी निगरानी प्रशासनिक स्तर से नहीं की जा रही है। मुख्यमंत्री ने 15 जनवरी को निर्देश दिए थे कि अगले दो दिन में किशोरों का टीकाकरण शतप्रतिशत पूरा हो। जिसको लेकर कलेक्टर ने सभी विभागों के कर्मचारियों को घर-घर जाकर किशाेरों का पता लगाने व सूचीबद्ध करने के निर्देश दिए थे। इन किशोरों को टीकाकरण केंद्र तक पहुंचाकर टीकाकृत कराना था। किशोरों का टीकाकरण दो दिन में शतप्रतिशत पूरा करना था, लेकिन आठ दिन गुजरने के बाद भी शतप्रतिशत टीकाकरण नहीं हो सका। शनिवार को भी महज 1257 किशोरों का टीकाकरण हो सका, जबकि कुल 3921 लेागों का टीकाकरण किया गया। रविवार को भी किशोरों व बड़ों का टीकाकरण किया जाएगा।

3921 लोगों को लगा टीका

शनिवार को 250 केंद्रों पर 3921 लोगों को टीका लगाया गया। जिसमें पहली डोज 634 लोगों को लगी, 1257 किशोरों ने टीका लगवाया, दूसरा टीका 1202 को लगा और सतर्कता डोज 828 लोगों ने लगवाई। अबतक 15 से 18 साल तक के 1.26 किशोरों का टीकाकरण हो चुका है, जबकि 16 हजार किशोरों का टीकाकरण होना शेष है।

सतर्कता में ही लापरवाही, कम लोग लगवा रहे टीका

सतर्कता डोज लगवाने में ही लापरवाही बरती जा रही है। जिले में 32 हजार स्वास्थ्य वर्कर, 63 हजार फ्रंट लाइन वर्कर और 60 साल से अधिक उम्र के बीमारी से ग्रस्त 40 हजार लोगों को सतर्कता डोज लगवानी है, लेकिन अभी तक महज 18 हजार सतर्कता डोज ही लग सके, जबकि 12 दिन से टीकाकरण हो रहा है।

इनका कहना है

प्रशासन के निर्देश पर अमला लगा हुआ है। जो घर घर जाकर ऐसे बच्चे जिनका टीकाकरण नहीं हुआ उनको सूचीबद्ध कर टीकाकरण करा रहा है। मौसम खराब होने के कारण हो सकता है कि उस रफ्तार से काम नहीं हो पा रहा हो लेकिन किशोरों का टीकाकरण जल्द पूरा होगा।

डा मनीष शर्मा सीएमचओ

Posted By: anil.tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local