Gwalior Bad Road News: ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। अक्टूबर में पैच रिपेयरिंग कार्य शुरू हो जाने के बावजूद शहर की सड़कों को अब भी गड्ढों से मुक्ति नहीं मिल पाई है। शहर की कई सड़कें ऐसी हैं, जिन पर अब भी जानलेवा गड्ढे हैं। इनसे वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। नगर निगम के अधिकारी जल्द सड़कों को सुधारने का आश्वासन देते हैं, लेकिन लोगों को राहत नहीं मिलती है। ये स्थिति तब है, जबकि सड़कों की मरम्मत के लिए अभी तक चार करोड़ रुपए खर्च किए जा चुके हैं।

बारिश को खत्म हुए चार महीने बीत चुके हैं। नगर निगम के अधिकारियों ने नवंबर माह तक सड़कों को सुधारने का दावा किया था, लेकिन नया साल 2023 का जनवरी माह खत्म होने पर है। उसके बाद भी सड़कों की स्थिति नहीं सुधरी है और आज भी शहर में जगह-जगह गड्ढे बने हैं। स्थिति यह है कि शहर की जीवाजीगंज रोड, नई सड़क, जनक अस्पताल रोड, कार्मल कान्वेंट स्कूल रोड व महलगांव पुलिया रोड सहित अन्य सड़कें अब भी गड्ढों से भरी हुई हैं। इन सड़कों से पैदल व दोपहिया वाहनों का चलना तक मुश्किल हो रहा है। हनुमान चौराहा से जीवाजी गंज रोड पर सड़क में बड़े-बड़े गड्ढे हैं। इसी प्रकार लक्ष्मीगंज चौराहा से हनुमान चौराहा सड़क पर हर दिन सुबह से रात तक जाम की स्थिति रहती है। कमानी पुल से आगे बनी सड़क अब तक सात बार धंसक चुकी है। महाराज बाड़ा से हनुमान चौराहा तक बनी जनकगंज रोड की हालत सबसे खराब है। इस सड़क पर गड्ढों के चलते हर दिन कोई न कोई बाइक सवार गिरकर चोटिल हो रहा है। इसके अलावा शब्दप्रताप आश्रम रोड, उरवाई गेट, खासगी बाजार, समाधिया कालोनी, शिंदे की छावनी, सिटी सेंटर, सचिन तेंदुलकर मार्ग, रोशनीघर मार्ग, दाल बाजार रोड, मुरार क्षेत्र की जीवाजी नगर, शिवाजी नगर, विनय नगर सेक्टर-2, 4 और बारह बीघा रोड की भी हालत बहुत ज्यादा खराब है।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close