Gwalior Blood Donation News:ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि) बदलते युग में सोशल मीडिया कई क्षेत्रों में कारगर भी साबित हो रहा है इसका जीता जागता उदाहरण है। बीते मंगलवार को हुई एक ऐसी घटना जिसने रोते हुए परिवार के आंसू पोंछ दिए। आपकी जानकारी के लिए बता दे कि शहर की रहने वाले एक युवक पंकज पारस अपने दैनिक कामों से निवृत्त होकर इंटरनेट मीडिया पर समय बिता रहे थे, तभी अचानक उन्होंने एक पोस्ट देखा जिसमें शहर के एक निजी अस्पताल में भर्ती मरीज का परिवार ओ पॉजिटिव रक्त मांग रहा था । संबंधित मरीज के वाहन का कुछ दिनों पहले जोरदार एक्सीडेंट हुआ था जिसमें वह बुरी तरह से घायल हो गया था। इलाज के दौरान डॉक्टर ओ पॉजिटिव रक्त की मांग कर रहे थे । क्योंकि इस ग्रुप का रक्त काफी रेयर होता है इसलिए परिवार को रक्त की व्यवस्था करने में समस्या हो रही थी। तभी परिवार ने मदद मांगने के लिए इंटरनेट मीडिया पर एक पोस्ट डाली जिसे पढ़कर पंकज तुरंत संबंधित अस्पताल में पहुंचे और मरीज को ब्लड डोनेट किया। पंकज की इस मदद ने रोते हुए परिवार के चेहरे पर उम्मीद की किरण जगा दी।

पिता से कहा घबराए नहीं

जब पंकज संबंधित निजी अस्पताल में पहुंचे तो मरीज के पिता काफी घबराए हुए और आंखों में आंसू लिए खड़े थे। जब रक्तदान करने के बाद मरीज के पिता ने आकर पंकज का धन्यवाद करना चाहा तो पंकज ने उन्हें साहस बंधाते हुए कहा कि 'आप घबराए नहीं जब तक इलाज चल रहा है तब तक आपको रक्त की समस्या नहीं आएगी।

सुकून देता है रक्तदान

जब रक्तदान करने पहुंचे युवक से यह पूछा कि सिर्फ इंटरनेट मीडिया की पोस्ट पढ़कर वे रक्तदान करने क्यों चले आए, तो उन्होंने जवाब दिया कि संबंधित परिवार की पीड़ा उस पोस्ट से साफ समझ आ रही थी और ऐसे में रक्तदान करने से मन को बेहद सुकून मिलता है।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close