Gwalior Broad Gauge Project: ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। ग्वालियर-श्योपुरकलां ब्राडगेज प्रोजेक्ट में मेट्रो की तर्ज पर सड़क के ऊपर से ट्रेनों का संचालन किया जाएगा। इस प्रोजेक्ट में बानमौर पर नेशनल हाइवे के ऊपर से रोड ओवरब्रिज तैयार कर ट्रेन का संचालन किया जाएगा। इसके लिए रेलवे ने तीन साल पहले अर्थवर्क का काम पूरा कर दिया था, लेकिन गत सात मई को जीएम ने मार्च 2023 तक जौरा तक 40 किमी ट्रैक पर ट्रेन दौड़ाने के आदेश दे दिए हैं। ऐसे में अफसरों ने इस रोड ओवरब्रिज के निर्माण की तैयारी शुरू कर दी है। इस रोड ओवरब्रिज में चार पिलर तैयार किए गए हैं। उस पर रेलवे ट्रैक बिछाया जाएगा। यह कार्य नवंबर माह तक पूरा हो जाएगा।

ग्वालियर-श्योपुर ब्राडगेज रेल प्रोजेक्ट के तहत बानमोर, सुमावली व सिकरौदा में तीन बड़े पुल बनाने का काम शुरू हो गया है। रेलवे ने पुल बनाने के लिए पुणे की आइएससी कंपनी को दो साल का समय दिया है। बानमोर, सुमावली व सिकरौदा तीनों स्थानों पर पुलों के पिलर खड़े करने के लिए जमीन की खुदाई का काम चल रहा है। बानमोर में खुदाई के बाद पिलर खड़े करने का काम आगे बढ़ाया गया है। 2972 करोड़ के इस प्रोजेक्ट के लिए रायरू से श्योपुर तक 10 बड़े पुल व 112 छोटे पुल बनाए जाएंगे। बड़े पुल बनाने का जिम्मा पुणे की आइएससी कंपनी को दिया गया है, जबकि 112 छोटे पुलों का निर्माण झांसी की घनाराम कंपनी व पुणे की आइएससी कंपनी मिलकर करेंगी। बानमोर स्टेशन के पास हाइवे पर रेलवे पुल का निर्माण कराएगा। पुल के नीचे से हाइवे का ट्रैफिक निकलेगा, जबकि ऊपर से ग्वालियर-श्योपुर जाने वाली ट्रेनें निकलेंगी। इस पुल को बनाने का काम अक्टूबर में शुरू कराया जाएगा। ट्रैफिक को पास करने के लिए हाइवे पर अलग से लाइन तैयार की जाएंगी। ऐसे में यह रोड ओवरब्रिज अपने आप में अनूठा होगा, जो हाइवे के ऊपर से गुजरेगा। अभी तक छोटी पुलियों के ऊपर से रेल ट्रैक कई जगह बिछे देखे गए हैं या फिर रेल ट्रैक के ऊपर से ओवरब्रिज बनाकर वहां से वाहन गुजारे जाते हैं।

40 किमी ट्रैक पहले होना है तैयारः इस परियोजना के तहत ग्वालियर से जौरा के बीच 40 से 45 किलोमीटर लंबा ट्रैक मार्च 2023 तक तैयार किया जाना है। हालांकि इस परियोजना की समय सीमा दिसंबर 2024 तय की गई है। इस परियोजना में अधिक समय पुल-पुलियों के निर्माण में ही लगना है, जबकि अर्थवर्क का काम लगातार चल रहा है।

नदियों पर बनेंगे पुलः ब्राडगेज लाइन के लिए रेलवे बानमोर से सुमावली के बीच घोड़ा पछाड़ नदी, जौरा से कैलारस के बीच सोन नदी, कैलारस से सबलगढ़ के बीच क्वारी नदी व वीरपुर से श्योपुर के बीच सीप नदी पर चार बड़े पुलों का निर्माण कराएगी। चार बड़े पुल बनाने में समय अधिक लगेगा। इस दौरान अंडरग्राउंड सब-वे भी बनाए जाएंगे। पुलों के निर्माण का काम दो साल की समय सीमा में पूरा कराने की शर्त टेंडर में लगाई गई थी।

बनाए जाएंगे नए स्टेशनः बानमोर में न्यू बानमोर के नाम से बी क्लास का रेलवे स्टेशन बनाया जाएगा। न्यू बानमोर रेलवे स्टेशन से सबलगढ़ के बीच नौ स्टेशन और बनाए जाना प्रस्तावित हैं। इनमें जौरा, कैलारस व सबलगढ़ के रेलवे स्टेशन बी क्लास के बनाए जाएंगे।

वर्जन-

बानमोर में नेशनल हाइवे के ऊपर से पुल बनाकर रेल लाइन ले जाई जाएगी। इसके नीचे से ट्रैफिक गुजरेगा। इस पुल का निर्माण शुरू हो गया है और जल्द ही निर्माण पूरा कर लिया जाएगा।

मनोज कुमार सिंह, जनसंपर्क अधिकारी रेल मंडल झांसी

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close