Gwalior Chambal Coronavirus News Update : ग्वालियर (अंचल टीम)। दतिया, शिवपुरी और श्योपुर में शुक्रवार को एक-एक कोरोना पॉजिटिव मिला है। वहीं ग्वालियर में दो पॉजिटिव सामने आए हैं। दतिया में इंदरगढ़ निवासी एक तीन साल की बालिका कोरोना पॉजिटिव मिली है। यहां अब 5 पॉजिटिव मरीज हो गए हैं। 3 वर्षीय बालिका की दादी की 4 मई को तेरहवीं थी। इसमें ग्वालियर से उसके बुआ-फूफा इंदरगढ़ आए थे, वे कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। शिवपुरी में 13 साल के मासूम कोरोना संक्रमित मिला। वह अपने मजदूर माता-पिता के साथ अहमदाबाद के ग्राम साखेजा से 15 मई को शिवपुरी लौटा था। शिवपुरी में अब कोरोना के 7 मरीज हो गए हैं। श्योपुर के जावदेश्वर गांव का युवक संक्रमित मिला है। यह चर दिन से जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में है। वहीं प्रदेश में शुक्रवार को 48 नए मरीज बढ़कर कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 6119 हो गया है।

ग्वालियर में दो पॉजिटिव, 98 में से 28 डबरा के

आइसीएमआर की गाइड लाइन में परिवर्तन के साथ ही सैंपलिंग की संख्या आधी रह गई है। इसके साथ ही कोरोना मरीजों की संख्या में भी कमी आई है। ग्वालियर के डबरा में कोरोना संक्रमण प्रशासन की बड़ी परेशानी बना हुआ है। यहां पर मरीजों का मिलना अब भी जारी है। शुक्रवार को भी ग्वालियर जिले में दो पॉजिटिव मरीज मिले हैं। जिसमें एक डबरा से है। इस प्रकार ग्वालियर में कोरोना मरीजों की संख्या 98 हो चुकी है, जिसमें से 28 केवल डबरा के हैं।

जीआर मेडिकल कॉलेज की वायरोलॉजी लैब में 531 संदिग्ध कोरोना मरीजों के सैंपल की जांच की गई है। जिसमें से ग्वालियर के दो मरीज कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इसमें डबरा निवासी 65 वर्षीय वृद्धा एवं जीवाजीगंज निवासी 20 वर्षीय युवक शामिल है। आईसीएमआर की नई गाइड लाइन के मुताबिक अब सरकारी अस्पतालों में केवल लक्षण होने पर ही सैंपलिंग की जा रही है। इससे दूसरे राज्य या जिलों से आने वाले अस्पतालों में चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन डॉक्टर उनको बिना जांच वापस लौटा रहे हैं। साथ ही नई गाइड लाइन के कारण अब सैंपलिंग की संख्या कम हो गई है, जिससे संक्रमित मरीजों की संख्या भी तेजी से कम हुई है। ऐसे में अब पॉजिटिव मरीज अब अपने आसपास के लोगों के लिए अधिक खतरा बन चुके हैं। विशेष रूप से वृद्ध एवं 10 साल से छोटे बच्चों के लिए पॉजिटिव मरीज बड़ी परेशानी बन सकते हैं।

थर्मल स्क्रीनिंग में पास, जांच में फेल

खास बात ये है कि युवक 16 मई को दिल्ली से श्रमिक स्पेशल ट्रेन से ग्वालियर पहुंचा था। थर्मल स्क्रीनिंग में यह बिल्कुल स्वस्थ्य पाया गया। 6 दिन परिवार के साथ भी रहा और अब रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। अब प्रशासन परिवार के अन्य सदस्यों की भी सैंपलिंग की तैयारी कर रहा है।

डबरा बना हॉट स्पॉट

प्रशासन के लिए डबरा सबसे बड़ी परेशानी बना हुआ है, यहां पिछले 10 दिन में 28 पॉजिटिव केस मिल चुके हैं। खास बात ये है कि यहां दो परिवारों से संक्रमण फैलना शुरू हुआ और अब अन्य इलाकों में भी फैल चुका है। वर्तमान में भी रोजाना एक-दो केस निकल रहे हैं।

मरीजों की ट्रेवल एवं कांटेक्ट हिस्ट्री

मरीज : 65 वर्षीय वृद्धा

निवासी : डबरा

कांटेक्ट हिस्ट्री : वृद्धा के बेटे एवं बहू 19 मई को कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। इनके परिवार की ठाकुरबाबा रोड निवासी गुप्ता परिवार से रिश्तेदारी है। इसलिए पूरा परिवार मृतक राजेन्द्र गुप्ता के अंतिम संस्कार एवं बाद में उठावनी में शामिल हुआ था। वृद्धा को पॉजिटिव आने के बाद अस्पताल में भर्ती करवा दिया गया है।

मरीज : 20 वर्षीय युवक

निवासी : जीवाजीगंज प्रधान साहब का बाड़ा

ट्रेवल हिस्ट्री : युवक 4 माह से दिल्ली में था। 16 मई को श्रमिक स्पेशल ट्रेन से ग्वालियर पहुंचा था। थर्मल स्क्रीनिंग में स्वास्थ्य संबंधित कोई परेशानी नहीं पाई गई। यह अपने घर पहुंच गया और 20 मई तक सामान्य रूप से परिजनों के साथ रहा था। 20 मई को युवक की सैंपलिंग हुई, जिसमें रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। परिवार में चार सदस्य हैं। सभी की सैंपलिंग होगी। युवक को आरएसवीएम में भर्ती किया गया है। हालांकि युवक का कहना है कि वह दिल्ली में पूरी तरह लॉकडाउन का पालन कर रहा था, ट्रेन में ही संक्रमित होने की आशंका है।

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना