- जम्मू कश्मीर से आ रही बर्फील हवा के चलते बदला मौसम

Gwalior cold news: ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जम्मू कश्मीर से आ रही बर्फीली हवा के चलते शुक्रवार को न्यूनतम तापमान 8.3 डिग्री सेल्सियस (डिसे) पर आ गया। इससे रात में ठंड से कांपने लगे हैं। बर्फीली हवा क्षोभमंडल के मध्य तक चल रही है। ठंड का अहसास अधिक हो रहा है। ठंडी हवा के चलते अधिकतम तापमान में भी गिरावट के आसार हैं, जिससे दिन का तापमान 27 डिसे पर अ सकता है। 28 नवंबर तक दिन का तापमान 27 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहेगा। शहर को अगले चार दिनों तक रात में कड़ाके की ठंड का सामना करना पड़ेगा।

जम्मू कश्मीर से पश्चिमी विक्षोभ कमजोर पड़ गया है। इसके कमजोर होने से उत्तरी हवा (कश्मीर से आने वाली हवा) का चलना शुरू हो गया है। जमीन से क्षोभमंडल तक चल रही हैं। इस कारण रात में ठंड का अहसास बढ़ा है। गत दिवस न्यूनतम तापमान सामान्य से 2.2 डिग्री सेल्सियस कम रहा। इस कारण सुबह ठंड की चुभन अधिक रही। ठंड से बचने के लिए लोगों को कानों पर गर्म कपड़ा बांधना पड़ा। सुबह आठ बजे तक धूप का गुनगुना अहसास रहा, लेकिन दोपहर में तेज धूप होने से ठंड से राहत रही। अधिकतम तापमान सामान्य से 1.1 डिसे अधिक रहा। हवा में नमी की मात्रा भी घटी है।

चक्रवातीय हवा नहीं दिखा पा रही असर

बंगाल की खाड़ी में चक्रवात बना है। इसके असर से पूर्वी हवा चल रही है, लेकिन यह ज्यादा मजूबत नहीं है। इस कारण उत्तरी हवा पूर्वी हवा पर हावी हो गई है। उत्तर हवा की गति भी बढ़ी है। इस कारण 28 नवंबर तक ठंड रहेगी।

- रात की ठंड रहेगी, लेकिन दिन में धूप निकलने से राहत रहेगी।

यह रहेगा तापमान

- रात का तापमान 7.5 डिसे से 8.5 डिसे के बीच रहेगा, लेकिन शीतलहर की संभावना नहीं है। सूर्य अस्त के बाद शहर में ठंड बढ़ जाएगी। सुबह के समय ठंड ज्यादा रहेगी।

- तेज धूप निकलने से अधिकतम तापमान 27 डिसे तापमान रिकार्ड होगा। सूर्य अस्त से पहले तक दिन में ठंड से राहत रहेगी। 29 नवंबर के बाद अधिकतम तापमान में गिरावट आएगी।

इनका कहना है

- 28 नवंबर तक ग्वालियर-चंबल संभाग में ठंड रहेगी। 29 नवंबर को नया पश्चिमी विक्षोभ आ रहा है। इसके असर से हवा का रुख पश्चिमी हो जाएगा। न्यूनतम तापमान फिर से 10 से 11 डिग्री सेल्सियस के बीच पहुंच जाएगा। ठंड में गिरावट आएगी।

डा वेदप्रकाश सिंह, रडार प्रभारी मौसम केंद्र भोपाल

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close