ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। कोरोना की पहली और दूसरी लहर में जिस तरह मैदान में उतरकर काम करके दिखाया है, अब फिर से वही करना है। इंसीडेंट कमांडर सिस्टम, कमांड सेंटर निगरानी, कंटेनमेंट जोन, सैंपलिंग, एंबुलेंस, मरीज हिस्ट्री, कोविड प्रोटोकाल का पालन न करने पर सख्त कार्रवाई सब प्रभावी ढंग से शुरू कर दें। कोविड-19 की तीसरी लहर में केस तेजी से बढ़ने लगे हैं। हम सबको पूरी मुस्तैदी के साथ संक्रमण की रोकथाम के लिए कार्य करना होगा। सभी इंसीडेंट कमांडर अपने-अपने क्षेत्र में पूरी सतर्कता के साथ संक्रमण को रोकने की कार्रवाई करें। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने सोमवार को कंट्रोल कमांड सेंटर में कोविड की रोकथाम के लिए आयोजित समीक्षा बैठक में यह निर्देश दिए। कंट्रोल कमांड सेंटर भी पूर्व की तरह सभी गतिविधियां प्रारंभ करे। कोविड को लेकर मीडिया को जानकारी देने के लिए डा. बिंदु सिंघल को अधिकृत किया गया है।

जाे कोविड प्रोटोकाल न माने चालान-सीलिंग करें: बैठक में निर्देश दिए गए कि कोविड-19 के मरीजों की संख्या निरंतर बढ़ रही है। आम नागरिक कोविड अनुरूप व्यवहार करें, यह जरूरी है। सभी इंसीडेंट कमांडर अपने-अपने क्षेत्र में बिना मास्क के घूमने वालों पर चालान की कार्रवाई करें। व्यवसायिक प्रतिष्ठानों को भी दुकान पर काम करने वालों के साथ-साथ आने वाले ग्राहकों को मास्क पहनने की अनिवार्यत: करने के निर्देश दें। समझाइश के बाद भी अगर कोई व्यवसायिक प्रतिष्ठान नहीं मानता है तो उसके खिलाफ पुलिस प्रकरण दर्ज कराया जाए। दुकानों के बाहर सुरक्षित शारीरिक दूरी के लिये गोले बनाने का कार्य भी शहरी क्षेत्र में नगर निगम और ग्रामीण क्षेत्र में जिला पंचायत एवं जनपद पंचायत के माध्यम से कराया जाए। प्रत्येक 50 घर पर एक दल गठित किया जाए। यह दल अपने-अपने निर्धारित क्षेत्र में लोगों से संपर्क कर उन्हें जागरूक करने का कार्य संपादित करे। उन्होंने जिले में सभी फीवर क्लीनिक शीघ्र प्रारंभ करने के निर्देश भी बैठक में दिए। समीक्षा बैठक में एसएसपी अमित सांघी, निगमायुक्त किशोर कान्याल, सीईओ जिला पंचायत आशीष तिवारी, सीईओ स्मार्ट सिटी जयति सिंह, एडीएम इच्छित गढ़पाले, एचबी शर्मा, एडिशनल एसपी हितिका वासल सहित सभी इंसीडेंट कमांडर, पुलिस अधिकारी और कोविड-19 के लिये तैनात किए गए प्रभारी अधिकारी उपस्थित थे।

कलेक्टर ने ली बैठक: कहा- ब्लाक स्तर तक बनें कोविड केयर यूनिटः कलेक्टर ने अधिकारियों से कहा कि शासकीय अस्पतालों के साथ-साथ नर्सिंग कालेज और निजी अस्पतालों में भी कोविड के उपचार के लिए सभी प्रबंध कर लिए जाएं। ऑक्सीजन प्लांटों के संधारण की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाए। तीसरी लहर में बच्चों पर अधिक असर होने की संभावनाओं को देखते हुए बच्चों के लिये भी सभी प्रबंधन कर लिए जाएं। अस्पतालों में ऑक्सीजन, दवाओं की व्यवस्था भी समय रहते पूरी की जाए। उन्होंने यह भी कहा कि शहरी तथा ब्लॉक स्तर पर भी कोविड केयर सेंटर स्थापित किए जाएं।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local