Gwalior Common Man News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। अमृत योजना के तहत डाली जा रही पेयजल लाइनों से पानी सप्लाई करने की अंतिम तिथि 31 मार्च तय की गई है, लेकिन वर्तमान में तिघरा से आने वाली पाइप लाइन का कार्य एक किलोमीटर से अभी अधिक बचा हुआ है। जबकि 67 किलोमीटर की पाइप लाइन डाली जाना अभी बाकी है। इसके साथ ही इन लाइनों की टेस्टिंग एवं इनमें पानी लाने के लिए डब्ल्यूटीपी (वाटर ट्रीटमेंट प्लांट) का कार्य अभी 80 प्रतिशत ही पूर्ण हुआ है। ऐसे में एक माह के अंदर कार्य पूर्ण होना संभव नहीं दिख रहा है। इसके चलते इस साल भी गर्मियों में लोग अमृत के पानी से वंचित रह सकते हैं।

लोगों के घरों में साफ व प्रेशर से पानी पहुंच सके, इसके लिए करीब 300 करोड़ की पेयजल लाइन का नेटवर्क बिछाने, पानी को साफ करने के लिए नया वाटर ट्रीटमेंट प्लांट, नई टंकियां बनाने की अमृत योजना शुरू की गई थी। इस योजना को 2020 में समाप्त हो जाना था, लेकिन कोरोना के कारण इसका समय बढ़ाकर मार्च 2021 कर दिया गया। वर्तमान में कार्य की गति को देखते हुए ऐसा संभव नहीं दिख रहा है कि यह कार्य समय पर पूर्ण हो सकेगा और गर्मियों में शहरवासियों को अमृत का पानी मिल पाएगा।

यह है स्थितिः पानी की लाइन 777 किलोमीटर डालनी थी, 710 डाल चुकी है, 67 किलोमीटर डालना बाकी है।

वाटर ट्रीटमेंट प्लांट 160 एमएलडी का बनाया जाना है, जिसका कार्य अभी 80 प्रतिशत पूर्ण हुआ है।

43 पानी की टंकिया बनाई जानी है, इनमें से 41 टंकियां बनकर तैयार हो रही हैं, जिसमें से 36 पूर्ण हो चुकी हैं, जबकि 5 का कार्य 90 प्रतिशत पूर्ण हुआ है। बाकी की दो टंकियां विवादों के चलते अटकी हुई है।

तिघरा से पानी की लाइन डालनी है, अभी एक किलोमीटर से अधिक खुदाई और लाइन डालना बाकी है। इसके लिए पत्थरों की चट्टानों को 8 से 9 मीटर गहरी खोदा जाना है।

यह मिलता फायदाः शहरवासियों के घरों पर 24 घंटे पानी की सप्लाई होती, पानी का प्रेशर इतना होता कि बिना टिल्लू पंप लगाए दो मंजिल तक पानी पहुंच सकेगा। साथ ही लोगों के घरों में मीटर लगेंगे, जिससे जितनी खपत होगी उतना ही बिल आएगा।

160 एमएलडी वाटर ट्रीटमेंट प्लांट से इन क्षेत्रों में होगी पानी की सप्लाईः जलालपुर स्थित 160 एमएलडी क्षमता का वाटर ट्रीटमेंट प्लांट बनाया जा रहा है, इससे शहर के अधिकांश वार्डो में पानी की सप्लाई की जाएगी। इसमें वह वार्ड भी शामिल हैं, जहां सिर्फ बोरिंग और टैंकराें से पानी की सप्लाई होती है।

टंकी इस वार्ड में बनेगी इन वार्डाे में होगी सप्लाई क्षमता किलोलीटर

माता मंदिर 2 2 300

हीराभूमिया 2 2, 33 700

सत्यनारायण की टेकरी 2 2, 35, 36 3000

विनय नगर सेक्टर 2 3 3 900

विनय नगर सेकटर 3 3 3 800

विनय नगर सेक्टर 4 3 3 1000

चंदन नगर 4 4 700

बारहा बीघा मोहिते गार्डन 4 4 800

इंदिरा नगर 4 4 200

आंनद नगर बी ब्लॉक 5 5 1350

जगनपुरा 6 6 600

पीएचई कालोनी 7 7 1800

झलकारी बाई 8 8, 15 900

कोटेश्वर टैक 10 10 1000

एव्हीएम कॉन्वेंट स्कूल 13 13 1000

तानसेन नगर 13 13 1000

नूरगंज 14 14 2250

रेशममिल 16 16 1200

कांचमील 17 16, 17 2500

शताब्दीपुरम 18 18 1000

दीनदयाल नगर डी ब्लॉक 18 18 600

दीनदयाल नगर एफ ब्लॉक 18 18 600

दीनदयाल नगर जी ब्लॉक 18 18 600

दीनदयाल नगर एफ 1 ब्लॉक 18 18 600

महाराजा कॉम्प्लेक्स 18 18 640

बीएसएफ कॉलोनी 18 18 200

महाराजपुरा पहाड़ी 18 18 600

एमिटी पहाड़ी 18 18 450

पिंटोपार्क 18 18 700

जडेरूआ 19 19 3000

कुंजबिहार 19 19 750

अमलतास कालोनी 19 19 750

शिव नगर 20 20 1500

अशोक कालोनी 20 20, 22 2000

नारायण विहार 21 21 600

कृष्णानगर 21 21 2000

सुरेश नगर 22 22, 23 2000

थाटीपुर पीएचई आफिस 24 24 3375

रसाला बाजार 26 26 1000

मीरा नगर 27 26, 27 1000

मुरार टैंक 27 25, 27 4500

थाटीपुर थाना 28 28 2000

दर्पण कालोनी 29 29 1000

शारदा विहार 29 29 2000

कर्मचारी आवास 29 29 1000

तुलसी नगर 30 30 1100

साकेत नगर 31 31 700

गांधी नगर 32 32 900

द्वारिकापुरी 32 32 500

सिंधिया नगर 60 60 500

न्यू कलेक्ट्रेट 60 60 1000

हुरावली 60 60 1000

रामकृष्ण आश्रम 60 60 1000

महलगांव पहाड़ी 60 60 1000

वर्जन

पेयजल सप्लाई की योजना बना रहे हैं, उम्मीद है कि 15 अप्रेल से हम वाटर ट्रीटमेंट प्लांट और तिघरा पाइप लाइन का कार्य पूर्ण कर लेंगे। साथ ही पानी की सप्लाई करने की पूरी योजना तैयार कर ली गई है।

शिवम वर्मा, नगर निगम आयुक्त

Posted By: vikash.pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags