Gwalior Corona Alert News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। महामारी गणना विशेषज्ञ की मानें तो कोरोना अप्रैल माह में अपने चरम पर पहुंच चुका है, अब वह ढलान पर है। इधर डाक्टरों का मत है कोरोना का पीक 15 से 20 मई के बीच आने वाला है। यह कोरोना कर्फ्यू का असर है जो संक्रमितों का आंकड़ा गिरा रहा है। कर्फ्यू समाप्त होते ही जैसे ही लोग घर से निकलेंगे, वैसे ही वायरस फिर तेजी से फैलेगा। फिलहाल राहत की बात यही है कि कोरोना के बढ़ते आंकड़े अब नीचे की ओर आ रहे हैं। विशेषज्ञ इसे शुभ संकेत बता रहे हैं।

उनका कहना है देश में स्थानीय स्तर पर कोरोना अपने चरम पर पहुंच रहा है। मध्यप्रदेश में महामारी अपने ढलान पर है, ग्वालियर में भी 24 अप्रैल के बाद से आंकड़ों का ग्राफ नीचे आ रहा है। हालांकि इस बात पर सभी का एक मत है कि कर्फ्यू खत्म होने पर यदि सावधानी नहीं बरती गई तो कोरोना की दूसरी लहर अपने चरम पर एक बार फिर से पहुंचेगी। कोरोना की दूसरी लहर ने शहर में मार्च में दस्तक दे दी थी। मार्च में कोरोना की रफ्तार भले ही धीमी रही हो, पर एक अप्रैल के बाद से कोरोना तेजी से लोगों में फैला। इस कारण से 15 अप्रैल से कोरोना कर्फ्यू लागू कर दिया गया। जिसका असर अब देखने को मिल रहा और संक्रमण घट रहा है।

24 अप्रैल को पहुंचा चरम परः कर्फ्यू लगने से पहले लोग एक-दूसरे से मिले, बाजारों में भीड़ जमा रही। वैवाहिक व अन्य कार्यक्रमों में लोगों ने शिरकत की, जिसका असर कर्फ्यू लगने के बाद देखने को मिला और हर दिन आंकड़े तेजी से बढ़ते गए। 24 अप्रैल को सर्वाधिक 1328 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। संक्रमण दर भी 38 फीसद रही और मरने वालों की संख्या भी अब तक की सर्वाधित 53 थी। इसके बाद से संक्रमित व मौत का आंकड़ा नीचे की ओर आया या फिर स्थर हो गया।

25 अप्रैल से शुरू हुई उल्टी गिनती

दिन सैंपल संक्रमित दर मौत

15 अप्रैल 2799 735 26.2 04

16 4126 985 23.8 10

17 3337 1024 30.6 15

18 2649 1157 43.6 17

19 3210 1061 33.0 17

20 3796 1219 32.6 28

21 3700 1190 32.1 31

22 3878 1196 30.8 33

23 3541 1152 32.5 25

24 3485 1328 38.1 53

25 4250 1208 28.4 35

26 3831 1198 31.2 38

27 3526 1024 29.9 42

28 3421 920 26.8 47

29 3360 980 29.1 38

30 3996 1105 27.6 41

1 मई 3813 1072 28.1 43

2 मई 3172 910 28.6 40

वर्जन-

जनता कर्फ्यू के चलते अब केस कम हुए हैं, यदि कर्फ्यू खत्म होने पर भी केस नहीं बढ़ते तो यह मान लिया जाएगा कि कोरोना का पीक निकल चुका। मगर कर्फ्यू के बाद केस बढ़े तो महामारी फिर चरम पर पहुंचेगी, इसलिए कर्फ्यू खत्म होने पर सतर्कता के साथ कोविड नियमों का पालन जरूरी है, तभी कोरोना की चेन टूटेगी।

डा. अशोक मिश्रा, विभागाध्यक्ष पीएसएम, जीआर मेडिकल कालेज

वर्जन-

देश में स्थानीय स्तर पर कोरोना अपने चरम पर पहुंच रहा है। ग्वालियर में यह माना जा सकता है कि महामारी अपने चरम पर पहुंच चुकी, अब ढलान पर है। यही कारण है कि कोरोना के आंकड़े स्थिर या फिर नीचे की ओर आ रहे हैं। पर कर्फ्यू खत्म होने पर सावधानी बरतना बेहद जरूरी होगा।

प्रो. डा. आरएस जादौन, विभागाध्यक्ष एमसीए एमआइटीएस कालेज ग्वालियर

Posted By: vikash.pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags