Gwalior Corona Alert News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। जीवाजी विश्वविद्यालय के हेल्थ सेंटर में बड़ी लापरवाही सामने आई है। सेंटर से निकलने वाला बायो मेडिकल वेस्ट को परिसर में ही फेंका जा रहा है। यह ऐसी जगह फेंका गया है, जहां विद्यार्थियों का आना-जाना है। सैकड़ों पक्षी कैंपस में रहते हैं। इससे संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। कुछ जगहों पर कचरा जलाया भी गया है।

शहर में कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है। ऐसी स्थिति में बायो मेडिकल वेस्ट फेंकना काफी खतरनाक है। इस कचरे को इंसीनेटर में नष्ट किया जाता है, लेकिन जीवाजी विश्वविद्यालय में इसे परिसर में ही फेंका जा रहा है और जलाया भी जा रहा है। इस पूरे मामले की पड़ताल की तो कचरा हेल्थ सेंटर के पास पड़ा हुआ था। इस संबंध में हेल्थ सेंटर के प्रभारी जेबीके प्रसाद से सवाल किया तो उनका कहना था कि बायो मेडिकल वेस्ट को नष्ट करने की व्यवस्था है। यदि किसी ने कचरा बाहर फेंका है तो यह गलत है। इसे दिखवाते हैं। इस कचरे को खुले में नहीं फेंक सकते हैं। इसे बंद कराएंगे।

हवा से उड़ रहा कचराः शहर में आंधी व बारिश आ रही है। तेज हवा की वजह से कचरा उड़कर दूसरी जगहों पर भी जा रहा है। इस कचरे के ढेर पर पक्षी भी पहुंच रहे हैं। परिसर में मोर सहित अलग-अलग प्रजाति के पक्षी दाना व कीड़े खाने के लिए आते हैं। यह पक्षी बाद में लाेगाें के घराें एवं परिसर में भी पहुंचते हैं। एेसे में बायाे मेडिकल वेस्ट के कारण संक्रमण फैलने की आशंका भी बढ़ गई है।

Posted By: vikash.pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags