Gwalior corona Alert News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। आशा, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व फ्रंट लाइन वर्कर के जरिए शहर में घर घर सर्वे कर बुखार, सर्दी-जुकाम व कोरोना के अन्य लक्षणों से ग्रसित लोगों का पता लगाएं। साथ ही इन लोगों की कोरोना जांच कराएं और उन्हें दवाएं भी उपलब्ध कराई जाए। यह बात जिले के प्रभारी सचिव एवं प्रमुख सचिव ऊर्जा संजय दुबे ने कही। वे बुधवार काे गूगल मीट के जरिए ग्वालियर जिले में कोरोना संक्रमण की स्थिति एवं उससे बचाव के लिए किए जा रहे उपायों की समीक्षा कर रहे थे।

इस दाैरान संभाग आयुक्त आशीष सक्सेना, कलेक्टर काैशलेंद्र विक्रम सिंह, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी किशोर कान्याल व मेडीकल कॉलेज के डीन डॉ. एसएन अयंगर सहित जिला प्रशासन के अन्य वरिष्ठ अधिकारी एवं इंसीडेंट कमाण्डर मौजूद थे। प्रमुख सचिव संजय दुबे ने कहा कि होम आईसोलेशन में स्वास्थ्य लाभ ले रहे कोरोना संक्रमित मरीजों को कमांड कंट्राेल सेंटर के चिकित्सक नियमित रूप से वाट्सएप के जरिए चिकित्सकीय सलाह देते रहें। साथ ही मरीजों से चर्चा कर उनके ऑक्सीजन लेवल की जानकारी भी लें। होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों को सलाह दी जाए कि वे हर दो-तीन घंटे में अपने ऑक्सीजन लेवल की जांच करें और उसका हिसाब लिखकर रखें। यदि ऑक्सीजन लेवल लगातार कम हो तो तत्काल चिकित्सक को टेलीफोन के जरिए बताएं, जिससे अस्पताल में शिफ्ट कर मरीज का बेहतर इलाज कराया जा सके।

डाक्टर तय करें की मरीज किस अस्पताल में भर्ती होगाः प्रमुख सचिव संजय दुबे ने ग्वालियर कलेक्टर काैशलेंद्र विक्रम सिंह के सुझाव पर सहमति जताते हुए कहा कि जांच में पॉजिटिव पाए जाने पर मरीज को होम आइसोलेशन की अनुमति दी जानी है अथवा किस अस्पताल में भर्ती कराया जाना है, इसका निर्णय इंसीडेंट कमांडर के साथ संलग्न चिकित्सक मरीज की स्थिति समझने के बाद करें, जिससे मरीज को जरूरत के मुताबिक चिकित्सा सेवाएं मिल सकें।

Posted By: vikash.pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags