Gwalior corona Third Wave Alert News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। 12 माह की भावना और उसके माता-पिता की आरटीपीसीआर रिपोर्ट बुधवार को निगेटिव आई। इसके अलावा राही और मछरिया गांव के 246 लोगों की सैंपल की जांच में भी कोई संक्रमित नहीं पाया गया। इससे सभी ने राहत की सांस ली। हैरत की बात यह है कि बुधवार को जारी हुई आरटीपीसीआर की सूची से मछरिया गांव की आठ माह की परी और उसके माता-पिता का नाम गायब था।गिौरतलब है कि सोमवार को भितरवार के राही गांव निवासी दीप सिंह की 12 माह की बेटी रैपिड एंटीजन टेस्ट में कोविड संक्रमित पाई गई थी। साथ ही मछरिया गांव की आट माह की परी की रिपोर्ट भी पाजिटिव आने से हड़कंप मच गया। इधर नरवर के पांच माह के कपिल को भी संक्रमित बताया गया। इसको लेकर भितरवार से ग्वालियर तक सनसनी फैल गई। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को लगा कि तीसरी लहर की शुरुआत होने लगी है। इसी कारण बच्चे संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं। आनन-फानन में परी और भावना को जयारोग्य अस्पताल के एचडीयू-5 में भेजा गया। इधर कपिल को भी शिवपुरी अस्पताल में भर्ती किया गया। इसी दिन कपिल की पुन: जांच कराई गई, जिसकी रिपोर्ट निगेटिव आई। इसके बाद उसे दवाई देकर घर पहुंचा दिया गया था। इधर परी और भावना का भी स्वास्थ्य ठीक होने पर डाक्टर ने उन्हें आवश्यक दवाएं दी और परिजन बच्चों को लेकर गांव लौट गए। इसके बाद प्रशासन ने गांव में बच्चों व बड़ों की जांच के लिए सैंपलिग कराई। इसमें बुधवार को सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई। सीएमएचओ डा. मनीष शर्मा का कहना है जांच सभी की होनी थी। परी का सैंपल लेने में कहां चूक हुई, इसे दिखवाया जाएगा। यदि उसका सैंपल नहीं लिया गया होगा तो लिया जाएगा।

Posted By: vikash.pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags