Gwalior Corona Virus News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। काेराेना मरीजाें की संख्या अप्रैल में तेजी से बढ़ी है। काेराेना टेस्ट कराने वाले 100 व्यक्तियों में से 13वां व्यक्ति संक्रमित मिल रहा है। बुधवार को जीआर मेडिकल कालेज की वायराेलॉजी लैब में 1769 सैंपल की जांच हुई, जिसमें 225 (12.7 फीसद) लोग संक्रमित पाए गए हैं। ग्वालियर में इससे पहले सितंबर 2020 में कोरोना मरीजों का आकड़ा 200 के पार गया था। 20 सितंबर को 888 मरीजों की जांच में 219 लोगों की रिपोर्ट पाजिटिव आई थी। आठ दिन में पहले तक प्रतिदिन 60 से कम कोरोना मरीज शहर में मिल रहे थे, जो अब दो सैकड़ा को भी पार कर चुके हैं।

लापरवाही अब भी जारी: शहर में कोरोना का प्रकोप बढ़ रहा है, इसके बावजूद लोग बेफ्रिक होकर बिना मास्क लगाए सड़कों और बाजारों में घूम रहे हैं। पहले के ही तरह हाथ मिला रहे हैं, गले मिल रहे हैं। गली मोहल्लों और कालोनियों में लोग मास्क से पूरी तरह से तौबा कर रहे हैं। लोग बिना मास्क लगाए एक-दूसरे के घर जा रहे हैं, साथ घूम रहे हैं। बच्चे भी सामान्य दिनों की तरह खेल रहे हैं। दुकानों पर सैनिटाइजर की व्यवस्था नहीं है, ग्राहक भी बिना मास्क लगाए पहुंच रहे हैं। जिला प्रशासन ने अब मास्क न लगाने वालों पर चालान कार्रवाई में तेजी व सख्ती की है।

बुधवार को मिले संक्रमितों में ये भीः

पूर्व पार्षद के पति: वैक्सीन का पहला डोज लगवा चुके नई सड़क निवासी पूर्व पार्षद के पति व वरिष्ठ भाजपा नेता को तीन-चार दिन से खांसी-बुखार की शिकायत थी। जब कोरोना की जांच कराई तो रिपोर्ट पाजिटिव निकली।

वृद्धा घर में ही संक्रमित: 86 साल की एक वृद्धा को खांसी-जुकाम, बुखार की शिकायत थी। वह काफी समय से घर से बाहर नहीं निकली हैं। तबीयत खराब होने पर कोरोना की जांच कराई, जिसमें वह कोरोना संक्रमित पाई गईं। वृद्धा को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 91 वर्षीय बुजुर्ग को कमजोरी महसूस हो रही थी। वह जांच कराने गए तो खून की कमी पाई गई। जब कोरोना जांच कराई तो संक्रमित पाए गए।

सीने में दर्द, निकला संक्रमण: किलागेट निवासी 36 वर्षीय युवक के सीने में दर्द हो रहा था। इलाज के लिए डाक्टर के पास गए। उन्होंने कोरोना जांच कराने को कहा, जांच कराई तो संक्रमण की पुष्टि हुई। इसी प्रकार 52 वर्षीय मुरार निवासी पुरुष को खांसी-जुकाम और बुखार आ रहा था। इनकी रिपोर्ट भी कोरोना पाजिटिव आई है।

30 से 45 साल के लोगों में सक्रमण ज्यादाः इस बार कोविड वायरस युवाओं को अपनी चपेट में अधिक ले रहा है। इन दिनों कोरोना के लक्षणों के चलते जांच कराने पहुंच रहे लोगों में सबसे अधिक 30 से 45 साल के लोग पॉजिटिव निकल रहे हैं। युवाओं का संक्रमण की चपेट में ज्यादा आने की वजह काम-धंधे के चलते उनका बाजारों में आना-जाना है। इस दौरान कोविड नियमों का पालन न करने के कारण वह संक्रमित के संपर्क में आ रहे हैं।

निजी अस्पताल हो रहे फुलः कोरोना महामारी बढ़ते ही सबसे अधिक लोग निजी अस्पताल का रुख कर रहे हैं। इसके चलते अधिकांश निजी अस्पतालों में वार्ड भर चुके हैं। वहीं जयारोग्य अस्पताल के सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में अभी 80 के करीब मरीज भर्ती हुए हैं।

Posted By: vikash.pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags