Gwalior corona Virus News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। फेफड़ों में 80 फीसद से अधिक संक्रमण के चलते श्वांस लेना मुश्किल हो गया था। अस्पताल में बाइपेप पर रखकर आक्सीजन लेना पड़ रही थी। भला हो उन डाक्टरों का, जिन्होंने मुझे बेतहर इलाज देकर नौ दिन में स्वस्थ कर दिया। अब में अस्पताल से अपने घर पहुंच चुका हूं।

यह कहना है मुरैना निवासी 43 वर्षीय अनिल पारा का। जो रतलाम में नगर निगम अधिकारी हैं और कोविड ड्यूटी के दौरान संक्रमण का शिकार बने। वह कोरोना वैक्सीन के दो डोज लगवा चुके थे। बुखार आया तो वह रतलाम से अपने घर मुरैना पहुंचे, जहां कोविड जांच में पाजिटिव पाए गए। आक्सीजन लेवल 80 पर आ चुका था और श्वांस लेना मुश्किल हो गया था। तब स्वजन ने मुझे जेएएच परिसर स्थित सुपर स्पेशियलिटी हास्पिटल में भर्ती कराया। यहां पता चला कि वायरस फेफड़ों में पहुंच चुका है, इस कारण श्वांस लेने में कठिनाई हो रही है। श्वांस देने के लिए बाइपेप मशीन लगाई गई। वार्ड में हर दिन अगल-बगल के मरीजों की मौत होते देख डर लगता था, पर डाक्टरों की टीम ने इलाज के साथ हौंसला भी दिया। आठ दिन इलाज देने के बाद 9वें दिन अस्पताल से छुट्टी कर दी।

कपड़ा व्यापारी को 90 फीसद था फेफड़ों में संक्रमणः डबरा के 51 वर्षीय कपड़ा व्यापारी आनंद विहारी 15 अप्रैल को कोरोना संक्रमित पाए गए थे। आक्सीजन लेवल 90 से कम आ गया था और श्वांस लेने में परेशानी के चलते सुपर स्पेशियलिटी में भर्ती हुए। यहां फेफड़ों में 90 फीसद संक्रमण बताया गया। आनंद का कहना है कि पिछले 17 दिन तक उनका इलाज चला। आक्सीजन देने के लिए उन्हें बाइपेप लगाया गया। ऐसा लगता था मानो अब शायद ही बचूंगा, पर अस्पताल में डाक्टरों की टीम ने मुझे अच्छा इलाज दिया और बेहतर देखभाल की। दिन-रात डाक्टरों की टीम आती और हालचाल पूछती तथा हौसला बढ़ाती, जिससे मेरा आत्मबल बढ़ा। इसका नतीजा यह रहा कि मैंने 17 दिन में कोरोना को हरा दिया और सोमवार को अस्पताल से छुट्टी कर दी गई, अब घर पर क्वारंटाइन हूं।

वर्जन-

सुपर स्पेशियलिटी में भर्ती अनिल पारा व आनंद विहारी को फेफड़ों में 80 से 90 फीसद संक्रमण था। इस कारण से उन्हें बाइपेप पर रखना पड़ा था। बेहतर इलाज और अच्छी देखभाल और मरीजों के हौंसले के आगे कोरोना संक्रमण हार गया। आज वह पूरी तरह से स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच चुके हैं।

डा. मनीष शर्मा, मेडिसिन विभाग सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल

Posted By: vikash.pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags