-पौधे लगाने के बाद देखरेख भी करना होगी

ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। हाई कोर्ट की एकल पीठ ने धोखाधड़ी व गबन के एक आरोपित को 25 पौधे लगाने की शर्त पर अग्रिम जमानत दी है। आरोपित को यह पौधे कलेक्ट्रेट के पास स्थित सिरोल पहाड़ी पर लगाने होंगे। 30 दिन के अंदर पौधे लगाने के बाद हाई कोर्ट में रिपोर्ट भी पेश करना होगी। जिला न्यायालय में जब तक केस की ट्रायल चलेगी, उस दौरान हर तीन माह में पौधों की रिपोर्ट विचारण न्यायालय में पेश करना होगी।

लक्ष्मी नारायण स्वर्णकार पर थाटीपुर थाने में धोखाधड़ी व गबन का केस दर्ज है। उसने हाई कोर्ट में अग्रिम जमानत का आवेदन पेश किया। उसकी ओर से तर्क दिया गया कि पुलिस उसे गिरफ्तार करना चाहती है। उसकी उम्र 58 साल है। छोटा व्यवसाय करता है। यदि उसे जेल भेजा जाता है तो उसका व्यवसाय प्रभावित हो जाएगा। फरियादी ने जो केस दर्ज कराया है, वह चैक बाउंस का मामला है। कोविड-19 में व्यवसाय में नुकसान हुआ, उसकी वजह से पैसे नहीं लौटा सके। पुलिस की ओर से जमानत का विरोध किया गया। कोर्ट ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद आरोपित को सशर्त जमानत दी है। 25 पौधे लगाने होंगे। पौधों की सुरक्षा के लिए ट्री गार्ड भी लगा सकते हैं। कोर्ट ने कहा कि यह आदेश परीक्षण के तौर पर दिया है। हिंसा व बुराई का प्रतिकार कर समाज में सामंजस्य स्थापित कर सकें। वर्तमान में मानव में दया, भाव, सेवा, करुणा की प्रकृति को विकसित करने की आवश्यकता है।

परिवहन विभाग लगातार पांचवी बार प्रथम स्थान परः प्रदेश सरकार ने सीएम हेल्प लाइन की शिकायतों के निराकरण की ग्रेडिंग जारी की है। मई 2022 में परिवहन विभाग ग्रेडिंग में प्रथम स्थान पर रहा है। विभाग आने वाली शिकायतों को पूर्ण संतुष्टी के साथ निराकृत किया गया। आयुक्त मुकेश जैन ने अधिकारी व कर्मचारियों को आदेश दिए हैं कि सीएम हेल्प लाइन की शिकायतों को प्राथमिकता से लिया जाए और उनका निराकरण किया जाए।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close