- विशेष न्यायालय ने सुनाया फैसला

Gwalior Court News: ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। विशेष सत्र न्यायालय ने बालक के साथ अप्राकृतिक कृत्य करने वाले आरोपित अनिल बाथम को दस साल की सजा सुनाई है। इसके अलावा 1500 रुपये का अर्थदंड लगाया है। कोर्ट ने आरोपित को सजा काटने के लिए जेल भेज दिया। अपहरण, पाक्सो एक्सट व धारा 377 में आरोपित के खिलाफ केस दर्ज था।

अभियोजन की ओर से प्रकरण की पैरवी कर रहे विशेष लोक अभियोजक अनिल कुमार मिश्रा ने बताया कि फरियादी (बालक के पिता) ने पुलिस थाना मुरार में शिकायत की। 27 दिसंबर 2018 को उसके लड़के (पीड़ित बालक) को आरोपित अनिल ने पपड़ी लेने के बहाने बुलाया था। बालक अभियुक्त के साथ चला गया था।

चिल्लाने की आवाज सुनकर उसकी पत्नी दौड़कर घर के बगल वाली गली में पहुंची तो वह उसके लड़के (पीड़ित बालक) गलत हरकत कर रहा था। वह अर्धनग्न हालत में मौके से भाग गया। बच्चे ने अपने साथ हुई हरकत के बारे में मां को बताया। इसके बाद मुरार थाने में शिकायत करने पहुंचे। पुलिस ने आरोपितो के खिलाफ अलग-अलग धाराओं में केस दर्ज किया। उसके खिलाफ कोर्ट में चालान पेश किया। कोर्ट ने आरोपित को दस साल की सजा सुनाई है।

आरपीएफ ने पकड़ा चोर, ट्रैक से प्लेट चोरी करने आया था

आरपीएफ ने बानमौर- नूराबाद स्टेशन के बीच जागल्ड फिश प्लेट चोरी करने वाले एक आरोपित को पकड़ा है। यह ट्रैक से प्लेट चोरी कर बेचने आया था। आरपीएफ ने ग्राम बरौआ निवासी बबलू माहौर पुत्र रतन सिंह को गिरफ्तार किया है। 11 अक्टूबर 2022 को बानमौर- नूराबाद के बीद फिस प्लेट चोरी गई थी। झांसी से सूचना आने पर आरपीएफ ने मौके का मुआयना किया। साथ ही मखिबरों को सक्रिय कर दिया। बबलू इन फिस प्लेट को ट्रैक के पास की झाड़ियों से निकालने की फिराक में था। इससे पहले उसे दबोच लिया गया।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close