-आरोपित ने नाबालिग का किया था अपहरण

Gwalior Court News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। विशेष सत्र न्यायालय ने नाबालिग का अपहरण कर दुष्कर्म करने वाले आरोपित लाखन उर्फ सतेंद्र रजक निवासी लक्षण तलैया को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। 11 हजार रुपये का अर्थदंड लगाया है। कोर्ट ने आरोपित को सजा काटने के लिए जेल भेज दिया।

अतिरिक्त जिला लोक अभियोजन अधिकारी अनिल मिश्रा ने बताया कि पीड़िता ने पुलिस थाना आरोन में शिकायत दर्ज कराई। उसने पुलिस को बताया कि 5 नवंबर 2014 को दोपहर 12:30 बजे पीड़िता मोटरसाइकिल से ग्राम सेवढ़ा से रिठौदन जा रहे थी। जैसे ही वह मोहना रोड पर आई तो एक मोटरसाइकिल से दो बदमाश आए। जिन्होंने उसकी मोटरसाइकिल को रोक लिया। एक बदमाश ने पीड़ता को अपनी ओर पकड़कर खींच लिया। जिससे पीड़िता मोटर साइकिल से गिर गई। बदमाशों ने कट्टा दिखाया और उसे जंगल में ले गए। उसके साथ दुष्कर्म किया। पुलिस ने केस दर्ज कर बदमाशों काे तलाश किया। लाखन रजक व करन सिंह जाटव निवासी ग्राम मेहरा थाना पोहरी जिला शिवपुरी के रूप में पहचान हुई। पुलिस ने आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने जांच के बाद चालान पेश किया। लाखन आजीवन कारवास की सजा सुनाई। जबकि करन सिंह जाटव फरार है। कोर्ट ने उसे फरार घोषित कर दिया।

मिलावटी गुटखा व सौंफ बेचने वाले को तीन माह की सजाः विशेष न्यायिक मजिस्ट्रेट ने मिलावटी गुटखा व सौंफ बेचने वाले को तीन महीने की सजा सुनाई है। 500 रुपये का अर्थदंड भी लगाया है। 15 अप्रैल 2011 को खाद्य विभाग की टीम इंदरगंज चौराहे पर पहुंची। यहां पर अमित चौरसिया की सूर्यनारायण मंदिर के पास स्थित दुकान पर पहुंचे। दुकान पर केशर युक्त विमल गुटखा व सिटी भुनी सौंफ के पाउच टंगे हुए थे। अधिकारियों ने अपना परिचय देते हुए गुटखा व सौंफ के पैकेट खरीदे। बिल प्राप्त किया। गुटखा व सौंफ के नमूनों को पैक करके जांच के लिए भेज दिया। यह नमूने मिलावटी निकले। खाद्य विभाग ने कोर्ट में परिवाद दायर किया। 2011 से यह परिवाद लंबित था। कोर्ट ने इस मामले की सुनवाई प्रमुखता से करते हुए सुनवाई खत्म की और फैसला सुनाया। अमित चौरसिया को तीन महीने की सजा सुनाई है।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close